"समुद्र मन्थन" के अवतरणों में अंतर

3 बैट्स् नीकाले गए ,  3 वर्ष पहले
छो
बॉट: वर्तनी एकरूपता।
छो (गैर मुक्त चित्र हटाया)
छो (बॉट: वर्तनी एकरूपता।)
एक प्रचलित श्लोक के अनुसार चौदह रत्न निम्नवत हैं:
 
::लक्ष्मीः कौस्तुभपारिजातकसुराधन्वन्तरिश्चन्द्रमाः। ::
::गावः कामदुहा सुरेश्वरगजो रम्भादिदेवाङ्गनाः। ::
::अश्वः सप्तमुखो विषं हरिधनुः शङ्खोमृतं चाम्बुधेः।::