"उन्नाव बलात्कार मामला" के अवतरणों में अंतर

 
=== सुप्रीम कोर्ट का हस्तक्षेप ===
भारत के सर्वोच्च न्यायालय ने उन्नाव बलात्कार मामले की पीड़िता द्वारा [[मुख्य न्यायधीश (भारत)|भारत के मुख्य न्यायाधीश]] [[रंजन गोगोई]] को लिखे गए पत्र को न्यायिक पक्ष में लिया।<ref>{{Cite web|url=https://www.livemint.com/news/india/supreme-court-takes-suo-motu-cognizance-in-unnao-rape-case-1564556758138.html|title=SC takes note of Unnao rape survivor’s letter, set to hear case today|last=Bindra|first=Japnam|last2=Das|first2=Shaswati|date=2019-07-31|website=Livemint|language=en|archive-url=|archive-date=|dead-url=|access-date=2019-08-01}}</ref> पीड़ित लड़की और उसके परिवार के सदस्यों द्वारा लिखे गए पत्र में दावा किया गया है कि उन्हें आरोपी भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के वकील द्वारा धमकी दी जा रही थी। इस बात का वरिष्ठ अधिवक्ता वी. गिरि ने उल्लेख किया है गिरि ने इस विषय के संबंध में मीडिया रिपोर्टों का हवाला दिया। <ref>{{Cite web|url=https://www.firstpost.com/india/supreme-court-takes-note-of-unnao-rape-survivors-letter-to-cji-ranjan-gogoi-alleging-threat-to-life-may-hear-matter-today-7089991.html|title=Supreme Court takes note of Unnao rape survivor's letter to CJI Ranjan Gogoi alleging threat to life, may hear matter today|last=|first=|date=1 August 2019|website=Firstpost|archive-url=|archive-date=|dead-url=|access-date=2019-08-01}}</ref>
 
== संदर्भ ==