"परमाणु क्रमांक" के अवतरणों में अंतर

3,623 बैट्स् नीकाले गए ,  2 वर्ष पहले
पृष्ठ को 'thumb|Backtowel' से बदल रहा है।
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
(पृष्ठ को 'thumb|Backtowel' से बदल रहा है।)
टैग: बदला गया
[[File:Backtowel.jpg|thumb|Backtowel]]
[[File:Atomic number depiction.jpg|thumb|Atomic Number Depiction|300px|right|[[हिलियम]] के [[परमाणु]] में दो [[प्रोटोन]] होते हैं इसलिए उसका परमाणु क्रमांक भी 2 है। इसके अलावा इस परमाणु में दो [[न्यूट्रॉन]] भी होते हैं जिसके कारण इसकी [[द्रव्यमान संख्या]] 4 होती है (दो प्रोटोन और दो न्यूट्रॉन)]]
[[रसायन विज्ञान]] एवं [[भौतिकी]] में सभी [[तत्व|तत्वों]] का अलग-अलग '''परमाणु क्रमांक''' (atomic number) है जो एक तत्व को दूसरे तत्व से अलग करता है। किसी तत्व का परमाणु क्रमांक उसके तत्व के [[नाभिक]] में स्थित [[प्रोटॉन|प्रोटॉनों]] की संख्या के बराबर होता है। इसे '''Z''' प्रतीक से प्रदर्शित किया जाता है। किसी आवेशरहित [[परमाणु]] पर [[एलेक्ट्रॉन|एलेक्ट्रॉनों]] की संख्या भी परमाणु क्रमांक के बराबर होती है। रासायनिक तत्वों को उनके बढते हुए परमाणु क्रमांक के क्रम में विशेष रीति से सजाने से [[आवर्त सारणी]] का निर्माण होता है जिससे अनेक रासायनिक एवं भौतिक गुण स्वयं स्पष्ट हो जाते हैं।<ref name="dm1869">[http://www.aip.org/history/curie/periodic.htm The Periodic Table of Elements], American Institute of Physics</ref><ref>[http://www.rsc.org/chemsoc/visualelements/pages/history_ii.html The Development of the Periodic Table], Royal Society of Chemistry</ref>
 
Bggg
 
== समस्थानिक ==
कुछ रासायनिक तत्व ऐसे भी हैं जिनके नाभिक में प्रोटॉनों की संख्या (अर्थात परमाणु क्रमांक) तो समान होता है किन्तु उनके नाभिक में न्युट्रॉनों की संख्या अलग-अलग होती है। ऐसे परमाणु '''समस्थानिक''' (isotope) कहलाते हैं। इनके रासायनिक गुण तो प्रायः समान होते हैं किन्तु कुछ [[भौतिक गुण]] भिन्न होते हैं। पाठ 195
 
 
आयूष
 
== इन्हें भी देखें ==
* [[आवर्त सारणी का इतिहास]]
* [[परमाणु भार]]
* [[समस्थानिक]] (आइसोटोप)
 
== सन्दर्भ ==
{{टिप्पणीसूची}}
 
[[श्रेणी:नाभिकीय भौतिकी]]
[[श्रेणी:रसायन शास्त्र]]
[[श्रेणी:रसायनशास्त्र की विमाहीन संख्याएँ]]