"भारतीय सेही": अवतरणों में अंतर

856 बाइट्स जोड़े गए ,  3 वर्ष पहले
छो
2409:4043:889:6673:0:0:1DF3:18A1 द्वारा किये गये 1 सम्पादन पूर्ववत किये। (बर्बरता)। (ट्विंकल)
(बचपन)
टैग: यथादृश्य संपादिका मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
छो (2409:4043:889:6673:0:0:1DF3:18A1 द्वारा किये गये 1 सम्पादन पूर्ववत किये। (बर्बरता)। (ट्विंकल))
टैग: किए हुए कार्य को पूर्ववत करना
{{स्तनधारी-आधार}}
{{स्तनधारी-आधार}}''' भारतीय सेही''' एक [[कृंतक]] जानवर है। इसका फैलाव [[तुर्की]], [[भूमध्य सागर]] से लेकर दक्षिण-पश्चिम तथा [[मध्य एशिया]] ([[अफ़गानिस्तान]] और [[तुर्कमेनिस्तान]] सहित) एवं [[दक्षिण एशिया]] ([[पाकिस्तान]], [[भारत]], [[नेपाल]] तथा [[श्रीलंका]]) और [[चीन]] तक में है। [[हिमालय]] में यह २,४०० मी. तक की ऊँचाई में पाया जाता है।<ref name = iucn/>
{{Taxobox
| image = Hystrix indica.jpg
| image_size = 300px
| status = LC
| status_system = iucn3.1
| status_ref =<ref name = iucn>{{IUCN2008 | assessors = Amori, G., Hutterer, R., Kryštufek, B., Yigit, N., Mitsain, G. & Muñoz, L.J.P. | year = 2008 | id = 10751 | title = Hystrix indica | downloaded = 18 फ़रवरी 2012}}Database entry includes justification for why this species is least concern</ref>
| regnum = [[जंतु]]
| phylum = [[रज्जुकी]]
| classis = [[स्तनपायी]]
| ordo = [[कृंतक]]
| familia = [[:en:Hystricidae|हिस्ट्रिसिडी]]
| genus = '''''हिस्ट्रिक्स'''''
| species = '''हि. इंडिका'''
| binomial = ''हिस्ट्रिक्स इंडिका''
| binomial_authority = [[:en:Kerr|कर्र]], १७९२
}}
 
{{स्तनधारी-आधार}}''' भारतीय सेही''' एक [[कृंतक]] जानवर है। इसका फैलाव [[तुर्की]], [[भूमध्य सागर]] से लेकर दक्षिण-पश्चिम तथा [[मध्य एशिया]] ([[अफ़गानिस्तान]] और [[तुर्कमेनिस्तान]] सहित) एवं [[दक्षिण एशिया]] ([[पाकिस्तान]], [[भारत]], [[नेपाल]] तथा [[श्रीलंका]]) और [[चीन]] तक में है। [[हिमालय]] में यह २,४०० मी. तक की ऊँचाई में पाया जाता है।<ref name = iucn/>
== विवरण ==
इसकी लंबाई ६३-९१ से.मी., पूँछ की लंबाई १५-३० से.मी. और वज़न ५-१६ कि. होता है।<ref name ="ilmi">[http://lifestyle.iloveindia.com/lounge/facts-about-porcupine-6509.html] Porcupine</ref><br />इसके शरीर के [[बाल]] मोटे, मज़बूत और नुकीले होते हैं जो इसे [[परभक्षी|परभक्षियों]] से बचने में मदद करते हैं। इन बालों को सेही के काँटे भी कहते हैं। सेही के शरीर हिलाने पर यह काँटे झड़ते हैं, लेकिन यह धारणा ग़लत है कि सेही इन काँटों को अपने दुशमन पर फेंक सकता है।
1,096

सम्पादन