"संयोजी ऊतक" के अवतरणों में अंतर

1 बैट् नीकाले गए ,  2 वर्ष पहले
छो
2401:4900:126F:86AD:AF:87ED:91C5:5BA7 (वार्ता) के 1 संपादन वापस करके EatchaBotके अंतिम अवतरण को स्थापित किया (ट्विंकल)
(Connective replaced by connecting.)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
छो (2401:4900:126F:86AD:AF:87ED:91C5:5BA7 (वार्ता) के 1 संपादन वापस करके EatchaBotके अंतिम अवतरण को स्थापित किया (ट्विंकल))
टैग: किए हुए कार्य को पूर्ववत करना
'''संयोजी उत्तक''' रेशेदार [[ऊतक|उत्तक]] होते हैं। प्राणियों के संयोजी उत्तकों का मुख्य घटक कोलेजन (Collagen) नामक [[प्रोटीन]] होता है।
 
'''संयोजी ऊतक''' (अंग्रेजी:''ConnectingConnective Tissue'') मानव शरीर में एक अंग को दूसरे अंग से जोड़ने का कार्य करता है। यह प्रत्येक अंग में पाया जाता है। यह ऊतकोंयहऊतकों का एक विस्तृत समूह है। संयोजी ऊतकों का विशिष्ट कार्य संयोजन करना, अंगों को आच्छदित करना तथा उन्हें सही स्थान पर रखना है।
* संयोजी ऊतक शरीर को एक ढांचा प्रदान करते हैं। इनमें कोशिकाएं उपकला कोशिकाओं की भाँति बहुत अधिक चिपकी हुई नहीं होतीं, बल्कि एक-दूसरे से काफ़ी अलग-अलग रहती हैं। इनके बीच के स्थान में अन्तर्कोशिकीय पदार्थ भरा रहता है, जिसे 'मैट्रिक्स' कहते है। यह पदार्थ रेशेदार दिखाई देता है।
* इन ऊतकों की कोशिकाएं अलग-अलग आकार और रूप-रंग की होती हैं। यद्यपि सबके संयोजी कार्य में समानता होती है।