वैद्युत-रासायनिक सेल

बहुविकल्पी पृष्ठ

उन सभी युक्तियों को वैद्युत-रासायनिक सेल (electrochemical cell) कहते हैं जो रासायनिक अभिक्रिया के माध्यम से विद्युत ऊर्जा उत्पन्न करते हैं या जिनमें विद्युत ऊर्जा देने से उनके अन्दर रासायनिक अभिक्रिया होने लगती है या उसकी गति बढ़ जाती है। 1.5-वोल्ट का शुष्क सेल इसका एक सर्वसामान्य उदाहरण है। कई सेलों को श्रेणीक्रम या समान्तर क्रम में जोड़ने से बैटरी बनती है। वाहनों की १२ वोल्ट की बैटरी इसका आम उदाहरण है।

डेनियल सेल से मिलता-जुलता एक प्रदर्शन विद्युतरासायनिक सेल। इसमें दो अर्ध-सेल हैं जो एक लवण-सेतु से जुड़े हैं जिससे होकर एक अर्श सेल से दूसरे में आयन आते-जाते हैं। इसके द्वारा वाह्य परिपथ में इलेक्ट्रान बहाये जाते हैं।

वैद्युत-रासायनिक सेल वह युक्ति है जिसमे Redox अभिक्रिया अप्रत्यक्ष रूप से संपन्न होती है तथा मुक्त ऊर्जा वैद्युत ऊर्जा के रूप मे प्रकट होती है वह वैद्युत-रासायनिक सेल कहलाते है


इन्हें भी देखेंसंपादित करें