शंकरदेव कलाक्षेत्र का मुल द्वार

शंकरदेव कलाक्षेत्र असम का सांस्कृतिक संग्रहालय है। यह गुवाहाटी शहर के पंजाबाड़ी क्षेत्र में स्थित है। यह एक ही परिसर में पूरे पूर्वोत्तर क्षेत्र को दर्शाते हुए एक कला और सांस्कृतिक संग्रहालय है। यहॉ बच्चों के लिए एक सुंदर पार्क है। परिसर के अंदर दर्शनीय बनाने के लिए जल्दी ही एक ऊंचा सरर्कुलर रेल बनाया जाएगा।

यह गुवाहाटी का प्रमुख पर्यटन स्थल भी है। इसे असम की संस्कृति और जीवन को दर्शाने के लिए बनवाया गया है। असम के लोगों को संगठित करने वाले, महान वैष्णव भक्त कवि, सन्त एवं नाटककार श्रीमंत शंकरदेव के नाम पर इस कलाक्षेत्र का नाम रखा गया। यहां विविध कला परिसर हैं। 2000 लोगों की क्षमता वाला यहां के ओपन एयर थियेटर में सांस्कृतिक पर्व और नृत्य आयोजित होते रहते हैं। यहां का साहित्य और ललित कला भवन भी खासे लोकप्रिय हैं।

इसका निर्माण सन् १९९० के दशक में किया गया था।