श्रीलंका का केंद्रीय बैंक (अंग्रेज़ी: Central Bank of Sri Lanka) श्रीलंका का मौद्रिक प्राधिकरण है। सन् 1950 में इस बैंक को श्रीलंका की आजादी के दो साल बाद स्थापित किया गया था और इसके संस्थापक गवर्नर जॉन एक्सटर थे, जबकि उस समय जे आर जयवर्धने श्रीलंका के वित्त मंत्री थे। "सेंट्रल बैंक ऑफ सीलोन" के नाम से स्थापित इस बैंक ने मुद्रा बोर्ड को प्रतिस्थापित किया था जो उस समय तक देश का पैसा जारी करने के लिए उत्तरदायी था। यह बैंक एशियाई समाशोधन संघ का एक सदस्य है।

श्रीलंका का केंद्रीय बैंक
Cbsl.jpg
मुख्यालय कोलंबो
स्थापना 1950
गवर्नर अजीत निवार्द कबराल
केन्द्रीय बैंक श्रीलंका
मुद्रा श्रीलंकाई रुपया
ISO 4217 कूट LKR
जालस्थल श्रीलंका का केंद्रीय बैंक

बैंक श्रीलंका में मौद्रिक नीति के संचालन के लिए जिम्मेदार है और इसके पास वित्तीय प्रणाली पर विस्तृत पर्यवेक्षी शक्तियां भी है।

बैंक वित्तीय समावेश को बढ़ावा देने की नीतियों को विकसित करने के काम में संलग्न है और वित्तीय समावेशन गठबंधन (AFI) का एक सदस्य है।

2007 में राजनीतिक हस्तक्षेप और संस्थागत क्षय के आरोपों की कारण इसकी साख पर बट्टा लगा था।

सन्दर्भसंपादित करें