मुख्य मेनू खोलें

कोलंबो, श्रीलंका का सबसे बड़ा नगर तथा राजधानी है। यह शहर नए तथा औपनिवेशिक इमारतों का सुन्दर सम्मिश्रण है। कोलंबो का इतिहास दो हजार साल से भी पुराना है।

कोलंबो
फोर्ट क्षेत्र।
फोर्ट क्षेत्र।
Flag of कोलंबो
Flag
Official seal of कोलंबो
Seal
कोलंबो के जिले दर्शित
कोलंबो के जिले दर्शित
देशश्रीलंका
प्रांतपश्चिमी प्रांत
जिलेकोलंबो जिला
शासन
 • नगरपालिका परिषदकोलंबो नगरपालिका परिषद
 • महापौरउवायस मुहम्मद इम्तियाज़
 • उप-महापौरएस. राजेंद्रन
 • मुख्यालयटाउन हॉल
क्षेत्रफल
 • City37.31 किमी2 (14.4 वर्गमील)
जनसंख्या (2001[1])
 • City647
 • घनत्व17344 किमी2 (44,920 वर्गमील)
 • महानगर5
समय मण्डलश्रीलंका मानक समय (यूटीसी+5:30)
 • ग्रीष्मकालीन (दि॰ब॰स॰)Summer time (यूटीसी+6)
वेबसाइटwww.cmc.lk

कोलंबो नाम के पीछे कई कहानियां प्रचलित है। एक कहानी के अनुसार कोलंबो नाम का उच्‍चारण सर्वप्रथम पुर्तगालियों ने 1505 ई. में किया था। दूसरी कहानी के अनुसार यह नाम सिंहली शब्‍द 'कोला-अम्‍बा-थोता' से आया। सिंहली भाषा में इस शब्‍द का अर्थ 'आम के वृक्षों वाला बंदरगाह' है। एक अन्‍य कहानी के अनुसार यह शब्‍द कोलोन-थोता से आया, जिसका शाब्दिक अर्थ होता है 'केलानी नदी पर स्थित बंदरगाह'। यहां घूमने लायक कई जगह है। गाले फेस ग्रीन, विहारमहादेवी पार्क और राष्‍ट्रीय संग्रहालय आदि यहां के प्रमुख दर्शनीय स्‍थल हैं।

इतिहाससंपादित करें

चूंकि कोलंबो एक प्राकृतिक बंदरगाह है, इस कारण यह प्राचीन काल से ही विभिन्‍न देशों से जुड़ा रहा है। रोम, अरब तथा चीन के व्‍यापारी यहां 2000 वर्ष पहले से ही आते रहे हैं। प्रसिद्ध यात्री इब्‍नबतूता 14वीं शताब्‍दी में यहां आया था। उसने कोलंबो का उल्‍लेख कालांपू के रूप में किया है। 8वीं शताब्‍दी के आसपास से ही अरब व्‍यापारी यहां बसने लगे थे। इसके बाद क्रमश: पुर्तगाली, डच तथा ब्रिटिश आए। अंतत: ब्रिटिशों ने इस देश पर 1815 ई. में कब्‍जा कर लिया। 1948 ई. में यह देश अंग्रेजों के कब्‍जे से मुक्‍त होकर स्‍वतंत्र हुआ।

जलवायुसंपादित करें

  Colombo, Sri Lanka के लिए मौसम के औसत  
महीने जनवरी फ़रवरी मार्च अप्रैल मई जून जुलाई अगस्त सितम्बर अक्टूबर नवम्बर दिसम्बर वर्ष
औसत उच्च°F (°C) 86
(30)
87
(31)
88
(31)
88
(31)
87
(31)
86
(30)
85
(29)
85
(29)
85
(29)
85
(29)
85
(29)
86
(30)
86
(30)
औसत निम्न °F (°C) 74
(23)
76
(24)
78
(26)
79
(26)
80
(27)
80
(27)
80
(27)
79
(26)
79
(26)
78
(26)
77
(25)
76
(24)
78
(26)
वर्षा इंच (mm) 3.30
(83.8)
2.50
(63.5)
4.50
(114.3)
10.00
(254)
13.20
(335.3)
7.50
(190.5)
5.10
(129.5)
3.80
(96.5)
6.20
(157.5)
13.90
(353.1)
12.10
(307.3)
6.00
(152.4)
88.1
(2,237.7)
स्रोत: [2]

प्रमुख आकर्षणसंपादित करें

विहार महादेवी पार्कसंपादित करें

चित्र:Viharamahadevi.jpg
विहार महादेवी पार्क

यह एक सार्वजनिक पार्क है। यह सुंदर पार्क औपनिवेशिक शैली में बने टाउन हाल के ठीक सामने है। इस पार्क का नाम प्रसिद्ध राजा दुतुगामुनु की माता के नाम पर रखा गया है। इस पार्क का निर्माण ब्रिटिश शासनकाल में हुआ था। उस समय इस पार्क को रानी विक्‍टोरिया के नाम पर विक्‍टोरिया पार्क के नाम से जाना जाता था। अभी भी टूरिस्‍ट गाइड इस पार्क का उल्‍लेख विक्‍टोरिया पार्क के नाम से करते हैं। इस पार्क में भगवान बुद्ध की एक विशाल मूर्ति स्‍थापित है। इसके अलावा इस पार्क में एक छोटा चिडियाघर, बच्‍चों का खेल का मैदान तथा पानी के झरने भी हैं।

विहारमहादेवी पार्क कोलंबो का एकमात्र सार्वजनिक पार्क है। इसकी देखभाल कोलंबो का नगर निगम करता है।

गाले फेस ग्रीनसंपादित करें

यह कोलंबो का सबसे प्रसिद्ध भ्रमण स्‍थल है। इसको 1859 ई. में श्रीलंका के तत्‍कालीन अंग्रेज गवर्नर सर हेनरी वार्ड ने विकसित किया था। उस समय यह स्‍थान भ्रमणस्‍थल के अलावा घुड़दौड़ तथा गोल्‍फ खेलने के लिए उपयोग किया जाता था। मूल गाले फेस ग्रीन वर्तमान से बहुत ज्‍यादा क्षेत्र घेरे हुआ था।

गाले फेसे ग्रीन गाले रोड और इंडियन ओसेन के बीच 5 हेक्‍टेयर रीबन स्‍ट्रीप में फैला हुआ है। वर्तमान में यह कोलंबो का सबसे बड़ा खुला क्षेत्र है। यह बच्‍चें, युवाओं, प्रेमियों का पसंदीदा स्‍थल है। शनिवार और रविवार की शाम को यहां बहुत भीड़ होती है। यहां पर कोलंबो के दो बड़े होटल, सीलोन कंटीनेनटल होटल तथा गाले फेस होटल भी स्थित हैं। वर्तमान समय में गाले फेस ग्रीन की देख-रेख श्रीलंका का शहरी विकास प्राधिकरण कर रहा है

राष्‍ट्रीय संग्रहालयसंपादित करें

 
कोलंबो राष्ट्रीय संग्रहालय

इस संग्रहालय की स्‍थापना1 जनवरी 1877 ई. को हुई थी। इसकी स्‍थापना तत्‍कालीन ब्रिटिश गवर्नर सर विलियम हेनरी जार्ज ने करवाई था। यह संग्रहालय सीनामन क्षेत्र में है। इस संग्रहालय में आभूषण तथा श्रीलंका के अंतिम राजा श्री विक्रम राजसिंघे का राजसिंहासन रखा हुआ है। अंग्रेजों ने विक्रम राजसिंघे को हरा कर ही श्रीलंका पर कब्‍जा किया था। इस संग्रहालय की कला गैलरी बहुत समृद्ध नहीं है। यहां श्रीलंका के हस्‍तशिल्‍पों का छोटा सा संग्रह है।

वर्ल्‍ड ट्रेड सेंटरसंपादित करें

यह जुड़वा इमारत श्रीलंका की सबसे ऊंची इमारत है। इस 40 मंजिला इमारत का निर्माण 1997 ई. में पूरा हुआ। यह इमारत यहां आने वाले पर्यटकों के आकर्षण का प्रमुख केंद्र होती है।

सीमा मालाक्‍या मंदिर, जामी उल अलफार मस्जिद, मुरुगन हिंदू मंदिर तथा वीरा झील यहां के अन्‍य दर्शनीय स्‍थल है।

त्‍योहार एवं उत्‍सवसंपादित करें

वेसाकसंपादित करें

कोलंबो का सबसे महत्‍वपूर्ण उत्‍सव वेसाक है। यह उत्‍सव भगवान बुद्ध के जन्‍म, ज्ञान प्राप्‍ित तथा महापरिनिर्वाण (जो सभी एक ही तिथि को हुआ था) के अवसर पर मनाया जाता है। इस उत्‍सव के दौरान पूरे शहर को प्रकाश से सजाया जाता है। यह उत्‍सव मध्‍य मई महीने में मनाया जाता है तथा एक सप्‍ताह तक चलता है। इस दौरान कोलंबोवासी पूरा शहर घूमते हैं और प्रकाशयमान शहर को देखते हैं। इस दौरान लोग दुंसल क्षेत्र (दान का स्‍थान) में चावल, पेय तथा दूसरे खाद्य पदार्थ दान करते हैं।

क्रिसमससंपादित करें

क्रिसमस यहां का एक अन्‍य प्रसिद्ध त्‍योहार है। यद्यपि ईसाई श्रीलंका की कुल जनसंख्‍या का मात्र 7 प्रतिशत हैं, फिर भी यह त्‍योहार बड़ी धूम-धाम से मनाया जाता है। इस उत्‍सव के दौरान भी पूरे शहर को प्रकाश से सजाया जाता है।

परिवहन व्‍यवस्‍थासंपादित करें

कोलंबो की परिवहन व्‍यवस्‍था बस, ऑटो रिक्‍शा (जिसे स्‍थानीय लोग तिपहिया कहते हैं) तथा टैक्सियों पर टिकी हुई है। बसें, सरकार और निजी एजेंसियों द्वारा चलाई जाती है। तिपहिया निजी रूप से ही चलाया जाता है। ट्रेन यहां का सबसे सस्‍ता और अच्‍छा परिवहन साधन है। अधिकतर लोग इसी से यात्रा करना पसंद करते हैं।

आवागमनसंपादित करें

वायु मार्ग

कोलंबो में बंडारनायके अंतर्राष्‍ट्रीय हवाई अड्डा है। यहां विभिन्‍न देशों से नियमित रूप से विमान आते रहते हैं। यह हवाई अड्डा शहर से 18 मील की दूरी पर स्थित है। यहां से बस, टैक्‍सी आदि से मुख्‍य शहर जाया जा सकता है।

भगिनी शहरसंपादित करें

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

टिप्पणी और संदर्भसंपादित करें

  1. Census July 17, 2001 (via citypopulation.de)
  2. "Average Weather for Colombo, Sri Lanka - Temperature and Precipitation". Weather.com. अभिगमन तिथि February 08 2009. नामालूम प्राचल |dateformat= की उपेक्षा की गयी (मदद); नामालूम प्राचल |from= की उपेक्षा की गयी (मदद); |accessdate= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)

विस्तृत पठनसंपादित करें

The following books contain major components on colombo;

  • Changing Face of Colombo (1501-1972): Covering the Portuguese, Dutch and British Periods, By R.L. Brohier, 1984 (Lake House, Colombo)
  • The Port of Colombo 1860-1939, K. Dharmasena, 1980 (Lake House, Colombo)
  • Decolonizing Ceylon: Colonialism, Nationalism, and the Politics of Space in Sri Lanka, By Nihal Perera, 1999 (Oxford University Press)

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें