संकर ओज (hybrid vigor) या हेटेरोसिस (heterosis) किसी संकर (हाइब्रिड) संतान के किसी जीवविज्ञानिक गुण में अपने जनक-जननी दोनों की तुलना से अधिक होने की स्थिति को कहते हैं। मसलन कभी-कभी देखा गया है कि जब किसी पौधे की दो नसलों द्वारा प्रजनन से उत्पन्न पौधा दोनों से आकार में बड़ा व लम्बा होता है या रोगों से लड़ने में अधिक सक्षम होता है।[1][2][3]

मक्के की LH198 (बाएँ) और PHG47 (दाएँ) नसलें और उन दोनों का संकर (बीच में)। संकर ओज स्पष्ट देखा जा सकता है, जिसमें संकर दोनों शुद्ध नसलों से अधिक लम्बा निकल रहा है।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Arnold, M.L. (1996). Natural Hybridisation and Evolution. Oxford University Press. ISBN 978-0-19-509975-1.
  2. McCarthy, Eugene M. (2006). Handbook of Avian Hybrids of the World. Oxford University Press.
  3. Keeton, William T. 1980. Biological science. New York: Norton. ISBN 0-393-95021-2.