संकर (hybrid) दो भिन्न नसलों, प्रकारों, जातियों या वंशों के जीवों की लैंगिक जनन द्वारा जन्मी संतान को कहते हैं। ऐसी संतान में साधारणतः जनक व जननी के गुणों का मिश्रण देखा जाता है। यह आवश्यक नहीं है की संकर के गुण जनक-जननी के गुणों का औसत हों, क्योंकि कभी-कभी संकर ओज (hybrid vigour) भी देखा जाता है, जिसमें संतान अपने जनक-जननी दोनों ही से अधिक बलशाली या बड़ी होती है।[1][2][3]

ज़ोंकी, जो ज़ीब्रा और गधे का संकर होता है

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Arnold, M.L. (1996). Natural Hybridisation and Evolution. Oxford University Press. ISBN 978-0-19-509975-1.
  2. McCarthy, Eugene M. (2006). Handbook of Avian Hybrids of the World. Oxford University Press.
  3. Keeton, William T. 1980. Biological science. New York: Norton. ISBN 0-393-95021-2.