सामाजिक दुर्भीति (Social Anxiety Disorder (SAD) या Social Phobia) एक प्रकार का मानसिक विकार है। सामाजिक दूर्भीति से ग्रस्त व्यक्ति किसी एक या अनेक सामाजिक वातावरणों में जाने या भाग लेने से बहुत अधिक डरता है। यदि वह इन परिस्थितियों में भाग लेता है तो उसे बहुत कष्ट होता है और उसकी काम करने की कई क्षमताएँ इसके कारण बहुत कम हो जाती हैं।[2]:15 सामाजिक दूर्भीति एक सर्वाधिक सामान्य दुश्चिन्ता विकृति है और यह सबसे आम मानसिक विकार है। लगभग १२% भारतीय वयस्क इसके शिकार हैं।

सामाजिक दुर्भीति
अन्य नामसामाजिक भय
विशेषज्ञता क्षेत्रमनश्चिकित्सा
लक्षणसामाजिक अलगाव, परिकल्पना, हीनता की भावना, कम आत्मसम्मान, दूसरों के साथ सामाजिकता में कठिनाई
आम उद्भवसमयआमतौर पर किशोर वर्षों के दौरान
ख़तराजेनेटिक कारक, मानसिक विकार
इलाजमनोचिकित्सा, अवसादरोधी दवा, बेंज़ोडायजेपाइन, प्रागैब्लिन
बारंबारताप्रति वर्ष 7.1%[1]

हम सभी सामाजिक स्थिति में नर्वस या असहज होने की भावना को जानते हैं। यदि आपको सामाजिक चिंता विकार है तो आपको सामाजिक स्थितियों का तनाव बहुत अधिक होता है।

सामाजिक चिंता विकार वाला कोई भी व्यक्ति इसे विभिन्न तरीकों से अनुभव कर सकता है। लेकिन यहां कुछ सामान्य स्थितियां हैं जिनसे लोगों को परेशानी होती है:

• अजनबियों से बात करना • जनता में बोलने का डर • डेटिंग • आँख से संपर्क बनाना • कमरे में प्रवेश करना • सार्वजनिक टॉयलेट का उपयोग करना • पार्टियों में जाना • अन्य लोगों के सामने भोजन करना • स्कूल या काम पर जाना • बातचीत शुरू करना

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "NIMH » Social Anxiety Disorder".
  2. Social Anxiety Disorder: Recognition, Assessment and Treatment. Leicester (UK): British Psychological Society; 2013. PubMed

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें