सीताराम लालस (29 दिसम्बर 1908 - 29 दिसम्बर 1986)[5] भारत के प्रख्यात कोशकर्मी तथा भाषाविज्ञानी थे। उन्होने राजस्थानी का पहला शब्दकोश निर्मित किया जिसका नाम 'राजस्थानी शब्दकोश' हैं। उन्होने 'राजस्थानी-हिन्दी वृहद कोश' की भी रचना की। जोधपुर के मूलनिवासी। एनसाइक्लोपीडिया ऑफ ब्रिटेनिका ने सीताराम लालस को 'राजस्थानी जुबां की मशाल' कहकर संबोधित किया।

सीताराम लालस
जन्म 29 दिसम्बर 1908[1]
नेरवा, राजस्थान[2]
मृत्यु 29 दिसम्बर 1986
आवास जोधपुर, राजस्थान
नागरिकता भारतीय
शिक्षा मानद पी.एच.डी (डी. लिट.)
व्यवसाय साहित्यकार,भारतीय कोशकर्मी,भाषाविद,लेखक
प्रसिद्धि कारण राजस्थानी हिन्दी वृहद शब्दकोश
माता-पिता हाथीराम लालस (पिता), जवाहर बाई (माता) [3]
पुरस्कार पद्मश्री (1977) [4]

भारत सरकार ने सीताराम लालस को पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किया।[6]

इन्होंने राजस्थानी भाषा के वृहद शब्दकोश (राजस्थानी-हिंदी वृहद कोश) की रचना की जिसमें 2 लाख से ज्यादा शब्द है, यह विश्व में सबसे बड़ा है।[7]

  1. "पद्मश्री डा. सीताराम जी लालस".
  2. "पद्मश्री डा. सीताराम जी लालस".
  3. "पद्मश्री डा. सीताराम जी लालस".
  4. "पद्मश्री (1977)".
  5. admin (2018-11-23). "पद्मश्री डा. सीताराम जी लालस". चारण शक्ति (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2020-12-31.
  6. Charans.org. "पद्मश्री डा. सीताराम जी लालस". Charans.org (चारण समागम) (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2020-12-31.
  7. Charans.org. "पद्मश्री डा. सीताराम जी लालस". Charans.org (चारण समागम) (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2020-12-31.