सुंदर पिचाई

गूगल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष

सुंदर पिचाई (पिचाई सुंदराजन) (जन्म 10 जून, 1972) अमेरिकी व्यवसायी हैं जो अल्फाबेट कंपनी के सीईओ और उसकी सहायक कंपनी गूगल एलएलसी के सीईओ हैं। गूगल ने अपनी कंपनी का नाम अल्फ़ाबेट में बदल दिया। इसके बाद लेरी पेज ने गूगल खोज नामक कंपनी का सीईओ सुंदर पिचाई को बना दिया और स्वयं अल्फाबेट कंपनी के सीईओ बन गए। सुन्दर पिचाई  ने गूगल सीईओ का पद ग्रहण 2 अक्टूबर, 2015 को किया। 3 दिसंबर, 2019 को वह अल्फाबेट के सीईओ बन गए।[1]

सुंदर पिचाई
Sundar Pichai (cropped).jpg
जन्म पिचाई सुंदर राजन
12 जुलाई 1972 (1972-07-12) (आयु 47)
मदुरै, तमिलनाडु, भारत
राष्ट्रीयता भारतीय मूल के अमेरिकी
शिक्षा

आईआईटी खड़गपुर (B.Tech. ) स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय (एम एस)

पेन्सिलवेनिया विश्वविद्यालय (एमबीए
व्यवसाय गूगल के सी.ई.ओ और अल्फाबेट कंपनी के सीईओ
नियोक्ता गूगल खोज
जीवनसाथी अंजलि पिचाई
वेबसाइट
twitter.com/sundarpichai

प्रारंभिक जीवन और शिक्षासंपादित करें

पिचाई का जन्म मदुरै, तमिलनाडु, भारत मे  तमिल परिवार में लक्ष्मी और रघुनाथ पिचाई के घर हुआ।[2] सुन्दर ने जवाहर नवोदय विद्यालय, अशोक नगर, चेन्नई में अपनी दसवीं कक्षा पूरी की और वना वाणी स्कूल, चेन्नई में स्थित स्कूल से बारहवीं कक्षा पूरी की। पिचाई ने मेटलर्जिकल इंजीनियरिंग में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, खड़गपुर से अपनी बैचलर डिग्री अर्जित की।[3] उन्होने एम. एस. सामग्री विज्ञान में स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय और इंजीनियरिंग और पेनसिल्वेनिया विश्वविद्यालय के व्हार्टन स्कूल से एमबीए किया जहां उन्हे एक विद्वान साइबेल और पामर विद्वान नामित किया गया।[1] [2]

कार्यसंपादित करें

वह 2004 में गूगल में आए। जहाँ वे गूगल के उत्पाद जिसमें गूगल क्रोम, क्रोम ओएस शामिल है। इसके बाद वह गूगल ड्राइव परियोजना का हिस्सा बने। इसके बाद वह अन्य उत्पाद जैसे जीमेल और गूगल मानचित्र, आदि का हिस्सा बने। इसके बाद वह 19 नवम्बर 2009 में क्रोम ओएस और क्रोमबूक आदि के जाँच कर दिखाये।[4] वह इसे 2011 में सार्वजनिक किया। 20 मई 2010 को वह वीपी8 को मुक्तस्रोत के रूप में बताया।[5] इसके बाद वह एक नई वीडियो प्रारूप वेबएम के बारे में भी बताया।[6]

यह 13 मार्च 2013 को एंडरोइड के परियोजना से जुड़े। जिसे पहले एंडी रूबिन संभालते थे। यह अप्रैल 2011 से 30 जुलाई 2013 तक जीवा सॉफ्टवेयर के निर्देशक बने थे।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "गूगल के सुंदर पिचाई का प्रमोशन, बनाया गया Google की पैरेंट कंपनी अल्फाबेट का CEO". NDTVIndia. अभिगमन तिथि 2019-12-04.
  2. "बीटेक तक जिनके पास अपना कंप्यूटर नहीं था, जानें वो कैसे बने गूगल के सीईओ". Amar Ujala. अभिगमन तिथि 2019-12-04.
  3. Sharma, Devendra (2019-12-04). "अल्फाबेट के सीईओ बने पिचाई ने गूगल का ऐड रेवेन्यू 3 साल में 85% बढ़ाया, कंपनी को विवादों से भी उबारा". Dainik Bhaskar. अभिगमन तिथि 2019-12-04.
  4. "सुंदर पिचाई: IIT में C Grade, गूगल से लेकर Alphabet के CEO बनने की कहानी". aajtak.intoday.in. अभिगमन तिथि 2019-12-04.
  5. Strohmeyer, Robert (19 November 2009). "Google Chrome OS Unveiled: Speed, Simplicity, and Security Stressed". PCWorld. अभिगमन तिथि 15 November 2012.
  6. "Google Open Sourcing VP8 as Part of WebM Project — Online Video News". Gigaom.com. 19 May 2010. अभिगमन तिथि 15 November 2012.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें