स्थानिक डेटाबेस या स्थानिक आँकड़ा भण्डार एक ऐसा डेटाबेस है जो किसी ज्यामितीय स्पेस में चीजों की अवस्थिति की सूचना के साथ उनके बारे में आँकड़े को व्यवस्थित करता है। इस प्रकार, भू-स्थानिक आँकड़े वे आंकड़े हैं जो चीजों की पृथ्वी पर अवस्थिति की सूचना भी रखते हैं और एक स्थानिक डेटाबेस में इनका संग्रह और निरूपण प्राथमिक स्तर पर बिन्दु, रेखा और बहुभुजों के माध्यम से होता है।[1] इन भूस्थानिक आँकड़ों के विजुअलाइजेशन के लिये मानचित्रों का उपयोग होता है।[2] तेजी से बदल रहे परिप्रेक्ष्यों में अब नई पीढ़ी के भूस्थानिक आँकड़ों की बात भी हो रही है।[3]

भौगोलिक सूचना तंत्र को कुछ लोग भूस्थानिक डेटाबेस के रूप में ही देखते हैं।

विशेषताएँसंपादित करें

स्थानिक डेटाबेस की कुछ प्रमुख विशेषताएँ या लक्षण हैं -

  • स्थानिक आंकड़ों का संग्रहण, प्रबंधन एवं वितरण
  • स्थानिक सूचक (spatial index) का प्रयोग
  • स्थानिक पृच्छा (spatial query) का प्रयोग
  • स्थानिक टोपोलोजी का प्रयोग करके आँकड़ों का संचयन और विश्लेषण

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. M. Lillesand and Kiefer, Remote Sensing and Image Interpretation, John Wiley Pub.
  2. क्राक और ऑरमेलिंग Cartography: Visualization of Spatial Data Archived 2014-07-27 at the Wayback Machine, गूगल पुस्तक, अभिगमन तिथि १८-०७-२०१४।
  3. Peggy Agouris और Arie Croituru - Next Generation Geospatial Information: From Digital Image Analysis to... Archived 2014-07-27 at the Wayback Machine, गूगल पुस्तक, अभिगमन तिथि १८-०७-२०१४।