मुख्य मेनू खोलें

२९ सितम्बर २०१६ को भारतीय सेना ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में आतंकवादी लांच पैड्स पे सर्जिकल स्ट्राइक किया था।

क्या होता है सर्जिकल स्ट्राइक

सर्जिकल स्ट्राइक एक ऐसी सैन्य कार्रवाई है जिसमें एक से अधिक सैन्य लक्ष्यों को नुक्सान पहुँचाया जाता है और उसके पश्चात् हमला करने वाली सैनिक इकाई तुरंत वापस लौट आती है. इस तरह की कार्रवाई में प्रयास किया जाता है कि गैर-सैनिक ठिकानों, जैसे- आसपास की इमारतें, बिल्डिंग, वाहन या सार्वजनिक आधारभूत संरचनाएँ, को कम से कम नुक्सान पहुँचे.

दूसरे शब्दों में, सर्जिकल स्ट्राइक सटीक सैन्य कार्रवाई का एक रूप है. यदि इस प्रकार के आक्रमण में वायु-बल का इस्तेमाल किया जाता है तो उसमें भी यह कोशिश की जाती है कि सटीक बमबारी की जाए जिसमें आस-पास की सुविधाएँ कम से कम क्षतिग्रस्त हों. 2003 में इराक युद्ध की शुरुआत में बगदाद की बमबारी एक सर्जिकल स्ट्राइक का उपयुक्त उदाहरण है.

भारतीय सेना ने बुधवार रात पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम देते हुए 7 आतंकी शिविरों को ध्वस्त कर दिया, साथ ही 38 आतंकियों को भी मार गिराया. इस प्रकार की स्ट्राइक की पहले से ही संभावना जताई जा रही थी. डायरेक्टर जनरल ऑफ मिलिट्री ऑपरेशंस लेफ्टिनेंट जनरल ररनवीर सिंह ने प्रेस कॉंफ्रेस करके बताया कि भारतीय सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक कर बुधवार की रात LoC के पार आतंकी ठिकानों को ध्वस्त किया है. इस ऑपरेशन के बाद सवाल ये उठता है कि आखिरकार सर्जिकल स्ट्राइक होता क्या है. 

  

सर्जिकल स्ट्राइक       

सर्जिकल स्ट्राइक सेना के द्वारा किया जानेवाला एक विशेष प्रकार का हमला होता है. इस हमले में सबसे पहले रणनीति तैयार की जाती है. इसमें समय, स्थान, कमांडोज की संख्या का विशेष तौर पर ख्याल रखा जाता है. इस अभियान की जानकारी बेहद गोपनीय रखी जाती है जिसकी सूचना सिर्फ चुनिंदा लोगों तक ही होती है. हमले के दौरान ध्यान रखा जाता है कि जिस स्थान को टारगेट किया गया है वहीं पर हमला हो. साथ ही सिविलियन इलाकों में कोई नुकसान ना हो. इससे पब्लिक प्लेस, आधारभूत संरचना, आवागमन के साधन या आम जनताम और उसके उपयोग से साधनों को कोई नुकसान नहीं पहुंचता है.  

बता दें कि रणबीर सिंह ने कैबिनेट की सुरक्षा मामलों की समिति की बैठक के बाद प्रेस कॉंफेंस में ये जानकारी दी. उन्होंने कहा है कि सीमा पर पाकिस्तान लगातार सीज फायर का उल्लंघन कर रहा है. इस साल 20 बार घुसपैठ की गई है, लेकिन हमने सभी कोशिशों को नाकाम साबित कर दिया है.  

डीजीएमओ ने बताया कि ये सभी आतंकी भारत पर बड़े हमले का प्लान बना चुके थे. हमने आतंकियों के ठिकानों की जानकारी इकट्ठा की. उन्होेंने बताया कि ऑपरेशन का खत्म हो चुका है. इसके साथ ही लेफ्टिनेंट जनरल ने पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए कहा कि आतंकियों का डीएनए हम पाकिस्तान को भी सौपेंगे और कहा कि भारतीय सेना किसी भी सूरत अपने नागरिकों पर हमले बर्दाश्त नहीं करेगी.  

 भारत ने बीती रात नियंत्रण रेखा के पार स्थित आतंकी शिविरों पर सर्जिकल हमले किए जिनमें आतंकवादियों को भारी नुकसान पहुंचा है और अनेक आतंकवादी मारे गए हैं। सेना द्वारा आतंकवादियों को निशाना बनाने के लिए अचानक की गई इस कार्रवाई के बारे में घोषणा सैन्य अभियान महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल रणवीर सिंह ने आनन-फानन में बुलाए गए संवाददाता सम्मेलन में की। संवाददाता सम्मेलन में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप भी मौजूद थे।

सर्जिकल हमलों की अवधि या यह किस समय किए गए और किस स्थान पर किए गए , इस बारे में जानकारी तत्काल साझा नहीं की गई है। सिंह ने कहा, ‘भारतीय सेना ने बीती रात नियंत्रण रेखा के पार आतंकी लांच पैडों पर सर्जिकल हमले किए। ’ उन्होंने यह भी कहा कि भारत किसी भी तरह की स्थिति के लिए तैयार है।