भारतीय सशस्‍त्र सेनाएँ

भारत गणराज्य की सशस्त्र सेना जिसमे जल,थल एवं वायु सेना सम्मिलित है

भारतीय सशस्‍त्र सेनाएँ भारत की तथा इसके प्रत्‍येक भाग की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए उत्तरदायी हैं। भारतीय शस्‍त्र सेनाओं की सर्वोच्‍च कमान भारत के राष्‍ट्रपति के पास है। भारतीय सेना के प्रमुख कमांडर भारत के राष्ट्रपति हैं।

भारत सेना
भारतीय सशस्‍त्र सेनाएँ
Emblem of Indian Armed Forces
भारतीय सशस्त्र बलों का प्रतीक
सेवा शाखाएंभारतीय सेना की मुहर भारतीय थलसेना
भारतीय वायुसेना मुहर भारतीय वायुसेना
भारतीय नौसेना मुहर भारतीय नौसेना
मुख्यालयनई दिल्ली
नेतृत्व
कमांडर-इन-चीफ राष्ट्रपति [1][1]
रक्षा मंत्रीराजनाथ सिंह[2][3]
चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी के अध्यक्ष[4][5]
जन-शक्ति
मिलिट्री उम्र18[6]
अनिवार्य सैनिक सेवानहीं
सक्रिय कर्मी1,408,551 (ranked तीसरा)
रिज़र्व कर्मी1,155,000
व्यय
बजटवित्त वर्ष 2017: 53.5 बिलियन यूएस डॉलर
(6वाँ स्थान)[7]
सकल घरेलू उत्पाद का प्रतिशतवित्त वर्ष 2017: 2.14% [2][3]
उद्योग
घरेलू आपूर्तिकर्ताडीआरडीओ हवाई प्रारंभिक चेतावनी व नियंत्रण विमान
भारत इलैक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड
हिन्दुस्तान ऐरोनॉटिक्स लिमिटेड
भारतीय आयुध निर्माणी
भारत अर्थ मूवर्स लिमिटेड
भारत डायनेमिक्स लिमिटेड
माज़गन डॉक लिमिटेड
गोवा शिपयार्ड लिमिटेड
गार्डन रीच शिप बिल्डर्स और इंजीनियर्स
मिश्र धातु निगम[8]
विदेशी आपूर्तिकर्ता संयुक्त राज्य अमेरिका[9]
 रूस[9]
 फ्रांस[9]
 इज़राइल[9]
 यूनाइटेड किंगडम[10]
 इटली
वार्षिक आयात42.9 बिलियन यूएस डॉलर (2000–16)[11]
वार्षिक निर्यात314 मिलियन यूएस डॉलर (2000–16)[11] अफ़ग़ानिस्तान
 मालदीव
 ताजिकिस्तान
 नेपाल
 भूटान
 इज़राइल
 ओमान
 बांग्लादेश
 वियतनाम
 संयुक्त अरब अमीरात
 ईरान
 थाईलैंड
 कज़ाख़िस्तान
 तुर्की
 कतर
 उज़्बेकिस्तान
 सऊदी अरब
 मलेशिया
 फ़िलीपीन्स
 किर्गिज़स्तान
 इंडोनेशिया
संबंधित आलेख
इतिहासभारत का सैन्य इतिहास
Presidency armies
ब्रिटिश भारतीय सेना
भारतीय सशस्‍त्र सेनाएँ
श्रेणीआर्मी
वायु सेना
नौसेना

राष्‍ट्र की रक्षा का दायित्‍व मंत्रिमंडल के पास होता है। इसका निर्वहन रक्षा मंत्रालय द्वारा किया जाता है, जो सशस्‍त्र बलों को देश की रक्षा के संदर्भ में उनके दायित्‍व के निर्वहन के लिए नीतिगत रूपरेखा और जानकारियां प्रदान करता है। भारतीय शस्‍त्र सेना में तीन प्रभाग हैं भारतीय थलसेना, भारतीय वायुसेना, भारतीय जलसेना, भारतीय तटरक्षक बल और इसके अतिरिक्त, भारतीय सशस्त्र बलों और अर्धसैनिक संगठनों [12] (असम राइफल्स, और स्पेशल फ्रंटियर फोर्स) और विभिन्न अंतर-सेवा आदेशों और संस्थानों में इस तरह के सामरिक बल कमान अंडमान निकोबार कमान और समन्वित रूप से समर्थन कर रहे हैं डिफेंस स्टाफ। भारत के राष्ट्रपति भारतीय सशस्त्र बलों के सर्वोच्च कमांडर है। भारतीय सशस्त्र बलों भारत सरकार के रक्षा मंत्रालय (रक्षा मंत्रालय) के प्रबंधन के तहत कर रहे हैं। 14 लाख से अधिक सक्रिय कर्मियों की ताकत के साथ,[13]यह दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा सैन्य बल है।[14] अन्य कई स्वतंत्र और आनुषांगिक इकाइयाँ जैसे:भारतीय सीमा सुरक्षा बल, भारत तिब्बत सीमा पुलिस, असम राइफल्स, राष्ट्रीय राइफल्स, राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड, इत्यादि।

यह दुनिया के सबसे बड़ी और प्रमुख सेनाओं में से एक है। सँख्या की दृष्टि से भारतीय थलसेना के जवानों की सँख्या दुनिया में चीन के बाद सबसे अधिक है। जबसे भारतीय सेना का गठन हुआ है, भारत ने दोनों विश्वयुद्ध में भाग लिया है। भारत की आजादी के बाद भारतीय सेना ने पाकिस्तान के खिलाफ तीन युद्ध 1948, 1965, तथा 1971 में लड़े हैं जबकि एक बार चीन से 1962 में भी युद्ध हुआ है। इसके अलावा 1999 में एक छोटा युद्ध कारगिल युद्ध पाकिस्तान के साथ दुबारा लड़ा गया।

भारतीय सेना परमाणु लैपटॉप, उन्नत तकनीक परमाणु हथियार से लैस है और उनके पास उचित ट्रायड मिसाइल अस्त्र-शस्त्र भी उपलब्ध है। हलांकि भारत ने पहले परमाणु हमले न करने का संकल्प लिया हुआ है।

भारतीय सेना की ओर से दिया जाने वाला सर्वोच्च सम्मान परमवीर चक्र है।

परमाणु सिद्धांतसंपादित करें

भारतीय सिद्धान्तो(2003) के अनुसार - भारत किसी भी देश पर पहले परमाणु हमला नहीं करेगा परन्तु भारत इसके लिए प्रतिबद्ध नही है।

रक्षा सिद्धांतसंपादित करें

भारतीय सशष्त्र सेना की विन्गें स्वयं की खुफ़िया विभागों से सुसज्जित है। जो अपने मे ही दुनिया की उम्दा खुफिया एजंसियों मे से एक हैं।

सैन्य सिद्धांतसंपादित करें

सेना का व्ययसंपादित करें

वित्त वर्ष 2014-15 के केन्द्रीय अंतरिम बजट में रक्षा आवंटन में 10 प्रतिशत बढ़ोत्‍तरी करते हुए 224,000 करोड़ रूपए आवंटित किए गए। 2013-14 के बजट में यह राशि 203,672 करोड़ रूपए थी।[15] 2012-13 में रक्षा सेवाओं के लिए 1,93,407 करोड़ रुपए[16] का प्रावधान किया गया था, जबकि 2011-2012 में यह राशि 1,64,415 करोइ़[17] थी।

वित्त वर्ष 2008-2009 2009-2010 2011-2012 2012-2013 2013-2014 2014-2015 2015-2016 2016-2017 2017-2018
बजट (करोड़ रूपए) 1,05,600[17] 1,41,703[17] 1,64,415[17] 1,93,407[16] 2,03,672[15] 2,24,000[15] 2,46,727 [4] 2,58,000 [5] 2,47,114 [6]

रक्षा उत्पादन के आधुनिकीकरण में 2007-2008 में 944.95 करोड़ खर्च किया गया जो कि बढ़ कर 2008-2009 में 1370.99 तथा 2009-2010 में 1243.47 करोड़ हो गया।[17]

भारतीय सेना की शाखाएँसंपादित करें

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें

  • भारतीय सैन्य शक्ति (गूगल पुस्तक ; लेखक- दिनकर कुमार, जनरल वी. पी. मलिक]
  • भारतीय सेना का गौरवशाली इतिहास (By Ian Cardozo)
  • भारतरक्षक - भारतीय सेना के सभी अंगो के आधिकारिक जालों का मुखपृष्ठ

सन्दर्भसंपादित करें

  1. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> का गलत प्रयोग; Press Information Bureau नाम के संदर्भ में जानकारी नहीं है।
  2. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> का गलत प्रयोग; IISS 2012 नाम के संदर्भ में जानकारी नहीं है।
  3. http://www.deccanherald.com/content/601148/jaitley-given-additional-charge-defence.html
  4. "संग्रहीत प्रति". मूल से 24 सितंबर 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 20 अप्रैल 2017.
  5. "संग्रहीत प्रति". मूल से 27 सितंबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 7 अक्तूबर 2019.
  6. "Categories of Entry". Indian Army. मूल से 23 अगस्त 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 23 August 2011.
  7. "India's Defence Budget 2017-18: An Analysis". IHS Jane. 1 Feb 2017. मूल से 5 फ़रवरी 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 1 Feb 2016.
  8. "संग्रहीत प्रति". मूल से 4 जुलाई 2012 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 जून 2020.
  9. "India / Aircraft / Jianjiji / Fighter". Stockholm International Peace Research Institute. मूल से 19 जनवरी 2012 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 20 अप्रैल 2017.
  10. "Czech Tatra becoming into Indian Armed Forces". MAFRA a.s. मूल से 10 जनवरी 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 19 February 2015.
  11. "Arms Transfers Database". SIPRI. मूल से 14 फ़रवरी 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 20 February 2013.
  12. "संग्रहीत प्रति". मूल से 19 फ़रवरी 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 18 फ़रवरी 2017.
  13. "संग्रहीत प्रति". मूल से 15 सितंबर 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 18 फ़रवरी 2017.
  14. "संग्रहीत प्रति". मूल से 12 दिसंबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 13 जून 2020.
  15. "रक्षा आवंटन 10 प्रतिशत बढ़ाया गया". पत्र सूचना कार्यालय, भारत सरकार. 17 फ़रवरी 2014. मूल से 22 फ़रवरी 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 18 फ़रवरी 2014.
  16. "रक्षा सेवाओं के लिए प्रावधान". पत्र सूचना कार्यालय, भारत सरकार. 16 मार्च 2012. मूल से 22 फ़रवरी 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 18 फ़रवरी 2014.
  17. "Defence Budget". पत्र सूचना कार्यालय, भारत सरकार. 7 मार्च 2011. मूल से 22 फ़रवरी 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 18 फ़रवरी 2014.