अनिल चौहान

भारत के दूसरे चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ

जनरल अनिल चौहान (जन्म 18 मई 1961) भारतीय सशस्त्र सेनाओं के वर्तमान रक्षा प्रमुख (सीडीएस) हैं [1] [2]|वे भारतीय सेना के एक चार सितारा जनरल और सेवानिवृत्त अधिकारी हैं। 30 सितंबर 2022 को उन्हें रक्षा प्रमुख बनाया गया था[3][4]। वे परम विशिष्ट सेवा पदक, उत्तम युद्ध सेवा पदक, अतिविशिष्ट सेवा पदक, सेवा पदक, विशिष्ट सेवा पदक से सम्मानित हैं।

अनिल चौहान
General Anil Chauhan.jpg

भारत के डिफेस्न्स स्टॉफ के प्रमुख
राष्ट्रपति दौपदी मुर्मू
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी
रक्षा मन्त्री राजनाथ सिंह
पूर्वा धिकारी बिपिन रावत

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह
पूर्वा धिकारी Manoj Mukund Naravane (Acting)

Chief of Army Staff
पूर्वा धिकारी मनोज मुकुन्द नरवणे
उत्तरा धिकारी मनोज पाण्डे

जन्म 18 मई 1961 (1961-05-18) (आयु 61)
गवाना, पौरी गढ़वाल जिला, उत्तर प्रदेश, भारत
(अब उत्तराखंड, भारत में)
जीवन संगी अनुपमा चौहान
बच्चे 1
शैक्षिक सम्बद्धता
सैन्य सेवा
निष्ठा  भारत
सेवा/शाखा  भारत सेना
सेवा काल जून 1981 साँचा:Endash मई 2021
2022 साँचा:Endash वर्तमान (सीडीएस के रूप में)
पद 23px के लिए रैंक प्रतीक चिन्ह सामान्य
एकक 20पीएक्स 11वीं गोरखा राइफल्स
कमांड
Service number IC-39492A
Awards

जनरल अनिल चौहान अपने लगभग 40 वर्षों से अधिक के करियर में कई कमांड संभाल चुके हैं. उन्हें जम्मू-कश्मीर और उत्तर-पूर्व भारत में आतंकवाद विरोधी अभियानों में भी अनुभव है|

प्रारंभिक जीवन और शिक्षासंपादित करें

लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान का जन्म 18 मई 1961 को उत्तराखंड (तब उत्तर प्रदेश) के ग्वाना, पौड़ी गढ़वाल जिला में हुआ था[5] | चौहान ने कोलकाता में केन्द्रीय विद्यालय फोर्ट विलियम से शुरुआती पढ़ाई की. बाद में उन्होंने राष्ट्रीय रक्षा अकादमी, खडकवासला और भारतीय सैन्य अकादमी, देहरादून से स्नातक की उपाधि प्राप्त की (Lt Gen Anil Chauhan Education). चौहान की शादी अनुपमा से हुई है, जो एक आर्टिस्ट हैं (Lt Gen Anil Chauhan wife). उनकी एक बेटी है जिसका नाम प्रज्ञा है |

सैन्य सेवायेंसंपादित करें

चौहान को चार दशकों के सैन्य करियर में 1981 में 11वीं गोरखा राइफल्स (11 Gorkha Rifles) में शामिल किया गया था. चौहान ने मेजर जनरल के रूप में बारामूला में उत्तरी कमान के एक इन्फैंट्री डिवीजन की कमान संभाली, बाद में लेफ्टिनेंट जनरल की क्षमता में 2017 से 2018 तक नागालैंड स्थित III कोर के कमांडिंग ऑफिसर के रूप में कार्य किया. जनवरी 2018 में, उन्हें महानिदेशक सैन्य अभियान (DGMO) नियुक्त किया गया था, जिसके दौरान उन्होंने दो प्रमुख सैन्य अभियानों के निष्पादन का निरीक्षण किया- 2019 पाकिस्तान के खिलाफ जवाबी हवाई हमले और ऑपरेशन सनराइज - एक संयुक्त भारत-म्यांमार आतंकवाद विरोधी हड़ताल | सितंबर 2019 में, चौहान को पूर्वी कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ (GOC-in-C) के रूप में नियुक्त किया गया था. वह इस पद पर मई 2021, अपने सेवानिवृत्ति तक रहे[6]|

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Lt General Anil Chauhan (retd) appointed as new Chief of Defence Staff". www.aninews.in. 28 September 2022.
  2. "रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान होंगे देश के नए CDS". आज तक (hindi में). 2022-09-28. अभिगमन तिथि 2022-10-04.सीएस1 रखरखाव: नामालूम भाषा (link)
  3. N; DelhiSeptember 30, ini Singh New; September 30, 2022UPDATED:; Ist, 2022 11:11. "'Will tackle all challenges': General Anil Chauhan takes charge as Chief of Defence Staff". India Today (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2022-10-07.सीएस1 रखरखाव: फालतू चिह्न (link)
  4. "जनरल अनिल चौहान ने संभाला सीडीएस का पदभार, कहा- सभी चुनौतियों का सामना करने को तैयार". आज तक (hindi में). 2022-09-30. अभिगमन तिथि 2022-10-07.सीएस1 रखरखाव: नामालूम भाषा (link)
  5. "Lt Gen Anil Chauhan Latest News, Updates in Hindi | लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान के समाचार और अपडेट - AajTak". आज तक (hindi में). अभिगमन तिथि 2022-10-04.सीएस1 रखरखाव: नामालूम भाषा (link)
  6. "बालाकोट एयरस्ट्राइक के वक्त सेना के DGMO थे अनिल चौहान, चीन मामलों के एक्सपर्ट... अब बने देश के नए CDS". आज तक (hindi में). 2022-09-29. अभिगमन तिथि 2022-10-04.सीएस1 रखरखाव: नामालूम भाषा (link)