दूसरे एशियाई खेल (एशियाड २ के नाम से भी जाने जाते हैं) फिलिपींस की राजधानी मनिला में १ मई से ९ मई, १९५४ के बीच आयोजित किए गए थे। इन खेलों का औपचारिक उद्घाटन राष्ट्रपति रामोन मैगसेसे द्वारा १ मई १९५४ को ४:०२ अपराह्न किया गया था। उद्घाटन समारोह के अवसर पर मनिला के मलाटे स्थित रिज़ल मेमोरियल स्टेडियम में २०,००० लोग उपस्थित थे। अन्तओस के अनुरोध पर मशाल रिले और कौल्ड्रॉन प्रज्वलन को उद्घाटन समारोह से बाहर रखा गया ताकि ओलम्पिक खेलों की परम्परा को परिरक्षित रखा जा सके। मशाल विधि को १९५८ के एशियाई खेलों में पुनः लाया गया। हालाँकि मेज़बान द्वारा अन्तिम खिलाड़ी के लिए परेड में प्रवेश करने के लिए एक विशेष प्रशस्ति पत्र का समाधान दिया गया। बतौर मेज़बान, फिलिपींस स्टेडियम में प्रवेश करने वाला अन्तिम देश था। आन्द्रेस फ़्रांको, फिलिपींस के ध्वज वाहक थे।

द्वितीय एशियाई खेल
2nd Asiad.png
मेजबान शहर मनिला, फिलिपींस
प्रतिभागी देश १९
खिलाड़ी ९७०
स्पर्धाएँ क्रीड़ाएँ
उद्घाटन समारोह १ मई
समापन समारोह ९ मई
आधिकारिक उद्घाटन राष्ट्रपति रामोन मैगसेसे
खिलाड़ी शपथ मार्टिन जिसन
मशाल जलाने वाला एनरिकुइटो बीच
मुख्य आयोजक रिज़ल मेमोरियल स्टेडियम

प्रतिभागी देश (राओस)संपादित करें

इन एशियाई खेलों में निम्नलिखित राष्ट्रीय ओलम्पिक समितियों ने भाग लिया था:

पदक तालिकासंपादित करें

स्रोत : कुल पदक स्थिति - मानिला १९५४

 क्रमांक  देश स्वर्ण रजत कांस्य कुल
  जापान ३८ ३६ २४ ९८
  फिलिपींस १४ १४ १७ ४५
  दक्षिण कोरिया १९
  पाकिस्तान
  भारत १३
  ताइवान १२
  इस्राइल
  बर्मा
  सिंगापुर
१०   श्रीलंका
११   इण्डोनेशिया
१२   हॉन्ग कॉन्ग
कुल ७५ ७३ ६९ २१८

सन्दर्भसंपादित करें

  1. उस समय उत्तर बोर्नियो और हांगकांग यूनाइटेड किंगडम के क्राउन उपनिवेश थे।
  2. उस समय सिंगापुर स्वशासित ब्रिटिश उपनिचेश था।