X-श्रेणी क्षुद्रग्रह

X-श्रेणी क्षुद्रग्रह (X-type asteroid) क्षुद्रग्रहों की एक श्रेणी है जिसके सदस्यों के उत्सर्जन वर्णक्रम (एमिशन स्पेक्ट्रम) में समानता है हालांकि वास्तव में इस श्रेणी के क्षुद्रग्रहों में बहुत विविधता है।

२९८ बैप्टिस्टीना के आकाश में मार्ग का चित्र - यह एक X-श्रेणी का क्षुद्रग्रह है

थोलेन श्रेणीकरणसंपादित करें

थोलेन श्रेणीकरण में X-श्रेणी को ऐल्बीडो (चमकीलेपन) के आधार पर तीन उपश्रेणियों में बांटा जाता है:[1]

  • M-श्रेणी, उदाहरण १६ सायकी (16 Psyche) - धातुयुक्त वस्तुएँ।
  • E-श्रेणी, उदाहरण ४४ नायसा (44 Nysa), ५५ पैन्डोरा (55 Pandora) - M-जैसी लेकिन इनका ऐल्बीडो M-वस्तुओं से अधिक होता है।
  • P-श्रेणी, उदाहरण २५९ ऐलथेया (259 Aletheia), इस्मेने (190 Ismene); CP-उपश्रेणी: ३२४ बैम्बरगा (324 Bamberga) - M-जैसी लेकिन इनका ऐल्बीडो M-वस्तुओं से कम होता है।

SMASS श्रेणीकरणसंपादित करें

SMASS श्रेणीकरण में X-श्रेणी को ऐल्बीडो की बजाए क्षुद्रग्रहों के वर्णक्रम गुणों के आधार पर बांटा जाता है:

  • मूल X-श्रेणी (core X-type) - इनका वर्णक्रम X-श्रेणी के लिये साधारण माना जाता है।
  • Xe-श्रेणी - इनके वर्णक्रम में ०.४९ माइक्रोमीटर पर मध्यम चौड़ाई का अवशोषण बैंड (absorption band) मिलता है, जो ट्रोइलाइट (troilite, FeS, लौह सल्फ़ाइड) की मौजूदगी का संकेत करता है। इस उपश्रेणी और थोलेन श्रेणीकरण की E-श्रेणी में कुछ समानताएँ हैं।
  • Xc- और Xk-श्रेणियाँ - इनके वर्णक्रम में ०.५५ से लेकर ०.८ माइक्रोमीटर के तरंगदैर्घ्य (वेवलेंथ) तक का चौड़ा अवशोषण बैंड मिलता है। इनका वर्णक्रम मूल X-श्रेणी और C-श्रेणी व K-श्रेणी के बीच का है।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Tholen, D. J. (1989). "Asteroid taxonomic classifications". Asteroids II. Tucson: University of Arizona Press. पपृ॰ 1139–1150. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0-8165-1123-3.