अंगिका भाषा

भारत और नेपाल की एक भाषा

अंगिका एक भाषा है जो बिहार और झारखण्ड के कुछ भागों में बोली जाती है। यह नेपाल के तराई भाग में भी बोली जाती है। अंगिका भारतीय आर्य भाषा है।[कृपया उद्धरण जोड़ें]

अंगिका भाषा
𑂃𑂁𑂏𑂱𑂍𑂰 𑂦𑂰𑂭𑂰
Angika.svg
बोली जाती है भारत, नेपाल
क्षेत्र बिहार, झारखण्ड, पश्चिम बंगाल
कुल बोलने वाले 743,600 [1]
भाषा परिवार हिन्द-यूरोपीय
भाषा कूट
ISO 639-1 bh (बिहारी)
ISO 639-2 anp
ISO 639-3 anp
Indic script
इस पन्ने में हिन्दी के अलावा अन्य भारतीय लिपियां भी है। पर्याप्त सॉफ्टवेयर समर्थन के अभाव में आपको अनियमित स्थिति में स्वर व मात्राएं तथा संयोजक दिख सकते हैं। अधिक...

भाषा परिवारसंपादित करें

अंगिका हिन्द-यूरोपीय भाषा-परिवार परिवार के अन्दर आती है। ये हिन्द आर्य उपशाखा के अन्तर्गत वर्गीकृत है। हिन्द-आर्य भाषाएँ वो भाषाएँ हैं जो संस्कृत से उत्पन्न हुई हैं। उर्दू, कश्मीरी, बंगाली, उड़िया, पंजाबी, रोमानी, मराठी, मैथिली, नेपाली जैसी भाषाएँ भी हिन्द-आर्य भाषाएँ हैं।

'अंगिका' शब्द की व्युत्पत्तिसंपादित करें

अंगिका शब्द अंग से बना है। अंगप्रदेश (वर्तमान में भागलपुर के आस पास का क्षेत्र) में बोली जाने वाली भाषा को अंगिका नाम दिया गया। अंगिका को लोग छेछा के नाम से भी जानते हैं।[कृपया उद्धरण जोड़ें]

 
अंगिका भाषा भारत और नेपाल में बोली जाती है। यह ज्यादातर बिहार के भागलपुर उपखंड और मुंगेर उपखंड में बोली जाती है, यह झारखंड के संथाल परगना में भी बोली जाती है।

स्रोतसंपादित करें

  1. "संग्रहीत प्रति". मूल से 21 मार्च 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 8 जुलाई 2018.

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें