अंटार्कटिक हिमचादर (Antarctic ice sheet) पृथ्वी की दो ध्रुवीय हिम टोपियों में से एक है। अंटार्कटिका महाद्वीप का ९८% भूभाग इस हिमचादर द्वारा ढका हुआ है।[1]

नासा द्वारा एकत्रित जानकारी के आधार पर अंटार्कटिका पर विस्तृत अंटार्कटिक हिमचादर का चित्रण
नासा द्वारा एकत्रित जानकारी के आधार पर अंटार्कटिक हिमचादर के नीचे छुपे धरातल का चित्रण

विवरणसंपादित करें

अंटार्कटिक हिमचादर पृथ्वी का सबसे विशाल बर्फ़ का समूह है। यह हिमचादर १.४ करोड़ वर्ग किमी पर फैली हुई है। तुलना के लिये भारत का कुल क्षेत्रफल १२ लाख वर्ग किमी से ज़रा अधिक है, यानि अंटार्कटिक हिमचादर भारत से १० गुना अधिक क्षेत्र पर विस्तृत है। इसमें ३ करोड़ घन किमी जल क़ैद है और यह विश्व के कुल मीठे पानी का नव्वे प्रतिशत (९०%) है। अगर यह पूरा पिघल जाये तो पृथ्वी के समुद्रों की सतह ५८ मीटर उठ जायेगी।

पार-अंटार्कटिक पर्वतमाला इस हिमचादर को पूर्वी अंटार्कटिक हिमचादर और पश्चिमी अंटार्कटिक हिमचादर में विभाजित करती है, जिनमें पूर्वी हिमचादर आकार में बड़ी है। पूर्वी अंटार्कटिक हिमचादर तो धरती पर टिकी है और यदी यह बर्फ़ न भी होती तो यह स्थान समुद्री-सतह से ऊपर होता लेकिन पश्चिमी अंटार्कटिक हिमचादर के नीचे की ज़मीन कहीं-कहीं पर समुद्र-सतह से २५०० मीटर नीचे है और बिना बर्फ़ के यह समुद्र का फ़र्श होता।[2]

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. NASA (2007). "Two Decades of Temperature Change in Antarctica". Earth Observatory Newsroom. मूल से 20 सितंबर 2008 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2008-08-14. NASA image by Robert Simmon, based on data from Joey Comiso, GSFC.
  2. Amos, Jonathan (2013-03-08). "बीबीसी न्यूज़ - Antarctic ice volume measured". Bbc.co.uk. मूल से 22 नवंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2014-01-28.