अधिसिद्धांत (metatheory) ऐसा सिद्धांत (थिओरी) होता है जिसका विषय कोई अन्य सिद्धांत हो। स्टीफन हॉकिंग के शब्दों में "हर सिद्धांत सदैव अस्थाई होता है, वह केवल एक परिकल्पना मात्र होती है; उसे पूर्ण रूप से प्रमाणित नहीं करा जा सकता। चाहे कितनी ही बार प्रयोग कर के सिद्धांत सही पाया जाये, आप कभी-भी पूर्णतः निश्चिंत नहीं हो सकते कि अगली बार प्रयोग करने पर उसके परिणाम सिद्धांत को नहीं झुठलाएंगे। इसके विपरीत, किसी भी सिद्धांत को केवल एक बार उस से अलग नतीजा देने वाले प्रयोग द्बारा खण्डित करा जा सकता है।"[1]

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Stephen Hawking in A Brief History of Time