मुख्य मेनू खोलें

अपना देश 1972 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। इसे जम्बू द्वारा निर्देशित किया गया। निर्माण ए॰ वी॰ सुब्रमण्यम अउर टी॰ एम॰ किट्टू द्वारा किया गया। फिल्म में राजेश खन्ना, मुमताज़, ओम प्रकाश, जगदीप और मदन पुरी की भूमिका है। संगीत की रचना आर॰ डी॰ बर्मन ने की है। फिल्म व्यावसायिक सफलता रही थी।

अपना देश
अपना देश.jpg
अपना देश का पोस्टर
निर्देशक जम्बू
निर्माता ए॰ वी॰ सुब्रमण्यम
टी॰ एम॰ किट्टू
लेखक इन्दर राज आनन्द
अभिनेता राजेश खन्ना,
मुमताज़,
ओम प्रकाश,
जगदीप,
कन्हैया लाल,
मदन पुरी
संगीतकार आर॰ डी॰ बर्मन[1]
प्रदर्शन तिथि(याँ) 1972
देश भारत
भाषा हिन्दी

संक्षेपसंपादित करें

आकाश (राजेश खन्ना) ईमानदार और शिक्षित युवक है, जिसे बॉम्बे म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन ने क्लर्क के रूप में नियुक्त किया है। वह अपने समान ईमानदार भाई, अपनी भाभी, एक भतीजी, शारदा और एक भतीजे के साथ रहता है। आकाश की ईमानदारी के कारण, वह अपने भ्रष्ट वरिष्ठ अधिकारियों के लिए एक बोझ बन जाता है।

एक दिन, वे उसके काम में गलती पाते हैं और उसे निकाल देते हैं। जब आकाश कानूनी रूप से अपनी नौकरी पाने का प्रयास करता है, तो वह पाता है कि हर जगह भ्रष्टाचार है। प्रतिशोध में, यहाँ तक कि उसके भाई को भी एक अपराध में फंसाया जाता है और उसे गिरफ्तार कर लिया जाता है। अब, आकाश को अपने भाई को निर्दोष साबित करने का एक तरीका चाहिए। साथ ही साथ उसे गुनहगारों को बेनकाब करना है।

मुख्य कलाकारसंपादित करें

संगीतसंपादित करें

सभी गीत आनन्द बक्शी द्वारा लिखित; सारा संगीत आर॰ डी॰ बर्मन द्वारा रचित।

क्र॰शीर्षकगायकअवधि
1."आजा ओ मेरे राजा"आशा भोंसले5:55
2."दुनिया में लोगों को"आर॰ डी॰ बर्मन. आशा भोंसले5:55
3."ई बाबू ले लो ना नारियल"लता मंगेशकर4:26
4."कजरा लगा के गजरा सजा के"किशोर कुमार, लता मंगेशकर4:47
5."रो ना कभी नहीं रोना"किशोर कुमार4:00
6."सुन चम्पा सुन तारा"लता मंगेश्कर, किशोर कुमार5:34

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "रोते भी सुर में थे आरडी बर्मन, क्‍या इसीलिए पड़ गया नाम पंचम?". आज तक. 26 जून 2018. अभिगमन तिथि 27 अप्रैल 2019.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें