अरैखिक नियंत्रण

नियंत्रण सिद्धांत का क्षेत्र जो सिस्टम के साथ काम करता है जो गैर-रेखा, समय-भिन्न या दोनों हैं

अरैखिक नियंत्रण (Nonlinear control theory), नियंत्रण सिद्धान्त का वह क्षेत्र है जो अरैखिक तंत्रों या समय के साथ परिवर्तनशील ( time-variant) तंत्रों से सम्बन्धित है। दूसरे शब्दों में, जिन नियंत्रण तन्त्रों में (प्लान्ट में, या कन्ट्रोलर में, या दोनों में) अरैखिकता की महत्वपूर्ण भूमिका हो, उसे अरैखिक नियन्त्रण तन्त्र कहते हैं।

बहुत से इंजीनियरी या प्राकृतिक तन्त्र मूलतः अरैखिक ही होते हैं।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें