मुख्य मेनू खोलें

आंदोलन (1995 फ़िल्म)

1995 की अज़ीज़ सेजवाल की फ़िल्म

आंदोलन 1995 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। अज़ीज़ सेजवाल द्वारा निर्देशित और साजिद नाडियाडवाला द्वारा निर्मित इस फिल्म में गोविन्दा, संजय दत्त, ममता कुलकर्णी और सोमी अली मुख्य कलाकार हैं। दिव्या भारती को इस फिल्म में लिया गया था, लेकिन उनकी अचानक मौत के कारण ममता कुलकर्णी ने उनकी जगह ली थी।[1]

आंदोलन
आंदोलन.jpg
आंदोलन का पोस्टर
निर्देशक अज़ीज़ सेजवाल
निर्माता साजिद नाडियाडवाला
लेखक अनीस बज़मी
अभिनेता संजय दत्त,
गोविन्दा,
ममता कुलकर्णी,
सोमी अली
संगीतकार नदीम-श्रवण
प्रदर्शन तिथि(याँ) 3 मार्च, 1995
देश भारत
भाषा हिन्दी

संक्षेपसंपादित करें

आदर्श (संजय दत्त) और अनिकेत (गोविन्दा) दो भाई हैं। अनिकेत बड़ा है, जबकि आदर्श छोटा है। दोनों एक ही कॉलेज में जाते हैं, जहां अनिकेत को पता चलता है कि सुंदर गुड्डी (ममता कुलकर्णी) उसके पसंद करती है। वह अंततः उसके साथ प्यार में पड़ता है। इस बीच, आदर्श कॉलेज में लफंगेबाजी और मौज करता है। इन्हीं करतूतों और चुटकुले में से एक ने छात्रावास में परेशानी में डाल दिया। जब कॉलेज छोड़ने और करियर की तलाश करने का समय आता है, तो दोनों भाइयों ने अलग रास्ता चुना। आदर्श ने किस मार्ग का चयन किया? अनिकेत के लिए पहले से ही क्या रास्ता चुना गया है?

मुख्य कलाकारसंपादित करें

संगीतसंपादित करें

सभी गीत समीर द्वारा लिखित; सारा संगीत नदीम-श्रवण द्वारा रचित।

क्र॰शीर्षकगायकअवधि
1."आएगी हर पल तुझे मेरी याद"कुमार सानु, अलका याज्ञनिक6:15
2."बदल गई है ये दुनिया"रूप कुमार राठौड़, उदित नारायण7:15
3."दिल हमने दिया है"कुमार सानु, अलका याज्ञनिक5:31
4."दिल तो खोया है"कुमार सानु, अलका याज्ञनिक5:19
5."कितने दिनों के बाद मिले हो"कुमार सानु, अलका याज्ञनिक6:06
6."मजा करले मेरी जान"बाली ब्रह्मभट्ट, सुदेश भोंसले5:56
7."मुझे तो होने लगा है प्यार"कुमार सानु, उदित नारायण, अलका याज्ञनिक6:20
8."नजर में तू जिगर में तू"कुमार सानु, सपना मुखर्जी6:27

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "मौत के बाद अटकी दिव्या भारती की ये 8 फिल्में, दूसरी एक्ट्रेसेस ने की थीं पूरी". दैनिक भास्कर. 27 फरवरी 2016. अभिगमन तिथि 5 अगस्त 2018.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें