मुख्य मेनू खोलें

आर॰ऍन॰ए॰ पॉलिमरेज़ (RNA polymerase), जो संक्षिप्त रूप से आर॰ऍन॰ए॰पी॰ (RNAP) कहलाता है, एक प्रकार के प्रकिण्व समूह के सदस्यों को कहा जाता है जो हर जीव में पाया जाता है और जिसपर सभी जीव निर्भर हैं। RNAP दो-रज्जुओं वाले डी॰ऍन॰ए॰ को खोल देता है, जिस से उधड़े हुए डी॰ऍन॰ए॰ अणु के न्यूक्लियोटाइड अणु की बाहरी ओर आ जाते हैं और उन्हें साँचे की तरह प्रयोग कर के आर॰ऍन॰ए॰ का निर्माण करा जा सकता है। इस निर्माण प्रक्रिया को प्रतिलेखन (transcription) कहते हैं।[1]

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Griffiths AJF, Miller JH, Suzuki DT, et al. An Introduction to Genetic Analysis. 7th edition. New York: W. H. Freeman; 2000. Chapter 10.