आसनसोल

पश्चिम बंगाल में शहर, भारत

आसनसोल (बांग्ला: আসানসোল) कोलकाता के बाद पश्चिम बंगाल का सबसे बड़ा शहर है। छोटा नागपुर के पठार के लगभग मध्य में प्रदेश के पश्चिमी सीमा पर स्थित यह नगर खनिज पदार्थों में धनी है। यहाँ सेनेरैल साइकिल का भारत प्रसिद्ध कारखाना है।[1] दस लाख से अधिक जनसंख्या वाला यह महानगर वर्धमान जिले का एक प्रखंड है एवं यह भारत के उन ११ शहरों में से एक है जो विश्व के १०० सबसे तेजी से विकसित हो रहे शहरों की सूची में हैं। प्रदेश की राजधानी कोलकाता से २०० किलोमीटर दूर दामोदर नदी की घाटी में स्थित इस नगर के अर्थव्यवस्था का आधार कोयला एवं स्टील हैं। यहाँ कार्यबल की संख्या अधिक है और, मामूली प्रति व्यक्ति आय के उच्च शैक्षिक संस्थानों, अच्छी परिवहन कनेक्शन, कई आवास परिसरों और उद्योग, संस्थाओं, परिवहन और वाणिज्य के लिए उपयुक्त भूमि है। इसका भीतरी भाग बांकुरा और पुरुलिया जिलों और उत्तर बंगाल, उड़ीसा और झारखंड राज्यों के कुछ हिस्सों से जुड़ा हुआ है।

आसनसोल
—  शहर  —
आसनसोल का रेलवे स्टेशन, १८८५ निर्मित
आसनसोल का रेलवे स्टेशन, १८८५ निर्मित
समय मंडल: आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
देश Flag of India.svg भारत
राज्य पश्चिम बंगाल
ज़िला पश्चिम बर्धमान
महापौर जितेन्द्र तिवारी(टीएमसी)
संसद सदस्य बाबुल सुप्रियो
विधायक मलय घटक
जनसंख्या
घनत्व
12,43,414 (2011 के अनुसार )
क्षेत्रफल
ऊँचाई (AMSL)
326.48km² कि.मी² (एक्स्प्रेशन त्रुटि: अज्ञात शब्द "km"। वर्ग मील)
• 97 मीटर (318 फी॰)
आधिकारिक जालस्थल: www.paschimbardhaman.co.in/

निर्देशांक: 23°41′N 86°59′E / 23.68°N 86.98°E / 23.68; 86.98

आसनसोल नाम दो अलग-अलग, आसन पेड़ (दामोदर नदी के तट पर पाया पेड़ की एक प्रजाति) और सोल भूमी/ Sol-land (खनिजों में समृद्ध भूमि) से प्राप्त होती है। भारतीय रेल ने आसनसोल जंक्शन रेलवे स्टेशन पर अपने यात्रियों और वहां के आम लोगों के उपयोग के लिए अपना पहला रेल भोजनालय "रेस्टोरेंट ऑन व्हील्स" शुरू किया।

अवलोकनसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. सिंह, विक्रमादित्य (जुलाई १९८४). भू-दर्शिका, भाग-४,५. कोलकाता: भारती पुस्तक मन्दिर. पृ॰ ९९. |access-date= दिए जाने पर |url= भी दिया जाना चाहिए (मदद)