मुख्य मेनू खोलें

एक लड़का एक लड़की

हिन्दी भाषा में प्रदर्शित चलवित्र

एक लड़का एक लड़की 1992 में बनी हिन्दी भाषा की हास्य प्रेमकहानी फिल्म है। इस फिल्म में सलमान खान और नीलम मुख्य भूमिकाओं में है।

एक लड़का एक लड़की
एक लड़का एक लड़की.jpg
एक लड़का एक लड़की का पोस्टर
निर्देशक विजय सदाना
लेखक सलीम आग़ा
अभिनेता सलमान ख़ान,
नीलम,
अनुपम खेर,
असरानी,
टीकू तलसानिया,
जावेद ख़ान,
शुभा खोटे,
मुशताक ख़ान,
संगीतकार आनंद-मिलिंद
प्रदर्शन तिथि(याँ) 19 जून, 1992
समय सीमा 162 मिनट
देश भारत
भाषा हिन्दी

संक्षेपसंपादित करें

भगवती प्रसाद (अनुपम खेर) अपने मृत भाई की विशाल संपत्ति की देखभाल अपनी पत्नी और बहनोई मरकुटे की सहायता से करता है। भगवती कर्ज में डूबा हुआ है और अपने देनदारों को भुगतान करने के लिए गबन कर रहा है। उसकी बिगड़ैल और अशिष्ट भतीजी रेणु (नीलम), जो संयुक्त राज्य अमेरिका में रहती है, उन्हें देखने आती है। भगवती उसका स्वागत करता है। अपने वकील द्वारा चेतावनी दिये जाने पर वह हालिया लेनदेन की जांच शुरू कर देती है और कई लाख रुपये लापता पाती है। वह भगवती से उसे 2 दिनों के भीतर स्पष्टीकरण प्रदान करने के लिए कहती है। तब भगवती योजनाबद्ध तरीके से उसकी नाव जिसे वो चला रही थी डुबो देता है। वह उसकी तरफ से मृत समझी जाती है लेकिन वह पास के कुछ मछुआरों द्वारा बचाई जाती है। वह उसे पुलिस को सौंप देते हैं। पुलिस उसके परिवार के सदस्यों की तलाश में है क्योंकि दुर्घटना के कारण वह सब भूल चुकी है। लंबे समय तक कोई भी नहीं आता। राजा (सलमान खान) केवल उन दोनों के बीच एक पुरानी मुठभेड़ का बदला लेने के लिये लाभ उठाता है। वह पुलिस को साबित करता है कि रेणु उसकी खोई हुई पत्नी रानी है। राजा, उसे एक गरीब व्यक्ति के दर्द का एहसास कराता है और इस तरह वे एक दूसरे से प्यार करना शुरू करते हैं। भगवती संपत्ति पर कब्जा करने के लिए तैयार है लेकिन संपत्ति का वकील जब तक कि रेणु या उसका शरीर ना पाया जाता तब तक सभी नकदी, बैंक और परिसंपत्तियों को जब्त करने के लिए न्यायालय से आदेश ले आता है। महीने बीतते हैं, भगवती आदमियों को रेणु की तलाश में रखता है और वे जल्द ही उसे ढूंढ लेते हैं। भगवती को पता चलता है कि उसे अपनी याददाश्त खो दी है और वह राजा नाम के एक व्यक्ति और और तीन बच्चों के साथ रह रही हैं। इस बार भगवती यह सुनिश्चित करेगा कि वह जीवित नहीं बच पाएगी, भले ही इसका मतलब राजा और तीन बच्चों को भी मारना हो। अपने चाचा (भगवती) को पहचानने के बाद रेणु अपनी यादों को वापस पाती हैं। अंत में, पुलिस भी आती है और भगवती और उसके आदमियों को गिरफ्तार करती है। उसे पता चलता है कि राजा ने उसे झूठ कहकर उसे धोखा दिया था। अमेरिका के लिए जाने से पहले अंत में वह यह भी महसूस करती है कि बच्चे और वह खुद एक दूसरे के बिना नहीं रह सकते और वह राजा को भी प्यार करती है। राजा और बच्चे उसे रोकने के लिये हवाईअड्डे पर उसकी तलाश में जाते है। लेकिन वो उन्हें नहीं मिलती। वो वापिस घर लौटते है और रेणु उन्हें पहले ही घर में मिलकर आश्चर्यचकित करती है।

मुख्य कलाकारसंपादित करें

संगीतसंपादित करें

बोल - मजरुह सुल्तानपुरी
एक लड़का एक लड़की
संगीत आनंद-मिलिंद द्वारा
जारी 1992
संगीत शैली फिल्म साउंडट्रैक
निर्माता आनंद-मिलिंद
आनंद-मिलिंद कालक्रम

दिल आशना है
(1992)
एक लड़का एक लड़की
(1992)
घर जमाई
(1992)
क्रम. शीर्षक गायक
1 "कितना प्यार तुम्हें करते हैं" कुमार सानु, साधना सरगम
2 "एक लड़का एक लड़की" उदित नारायण, नीलम
3 "आओ झूमे नाचे" उदित नारायण, साधना सरगम
4 "अंडे से आई मुर्गी" अमित कुमार, साधना सरगम
5 "छोटी सी दुनिया मोहब्बत की" उदित नारायण, साधना सरगम
6 "फूल नहीं ये अरमान" सुरेश वाडकर, कविता कृष्णमूर्ति

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें