मुख्य मेनू खोलें

आनंद-मिलिंद हिन्दी फिल्मों के एक प्रसिद्ध संगीतकार जोड़ी है। प्रतिभाशाली संगीतकार चित्रगुप्त के दोनों पुत्र 'आनंद चित्रगुप्त' और 'मिलिंद चित्रगुप्त' अपने शुरूआती दौर में संगीतकार लक्ष्मीकांत प्यारेलाल के सहायक रहे। इसके अलावा अपने पिता के सहायक के तौर पर भी उन्होंने कई हिन्दी और भोजपुरी फिल्मों में संगीत दिया। उनकी पहली सफल हिन्दी फ़िल्म "क़यामत से क़यामत तक" थी। इस फ़िल्म ने सफलता के कई कीर्तिमान स्थापित किए। ये फ़िल्म कलाकार आमिर खान की भी पहली फ़िल्म थी। इस फ़िल्म का गीत "पापा कहते हैं बड़ा नाम करेगा" उदित नारायण का गाया हुआ बहुत प्रसिद्ध हुआ। इस फिल्म में संगीत के लिये आनंद मिलिंद को उनका पहला फिल्मफेअर अवॉर्ड भी मिला। उसके बाद उन्होने दिल, बेटा, संगीत, आई मिलन की रात, लव, धनवान जैसी फिल्मो में लोकप्रिय संगीत दिया।

प्रमुख फ़िल्मेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें