एन॰डी॰ सुन्दरावादिवेलु

नायडूपक्कम दुराईस्वामी सुन्दरावादिवेलु (तमिल: நெய்யாடுபாக்கம் துரைசாமி சுந்தரவடிவேலு; १२ अक्टूबर १९११– १२ अप्रैल १९९३) मद्रास विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति थे।[1] उन्हें साहित्य और शिक्षा के क्षेत्र में योगदान के लिए भारत सरकार ने १९६१ में पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित किया।[2][3]

एन॰डी॰ सुन्दरावादिवेलु
நெ. து. சுந்தரவடிவேலு 1940.jpg
जन्म 1911
मृत्यु 1993 Edit this on Wikidata
नागरिकता भारत, ब्रिटिश राज, भारतीय अधिराज्य Edit this on Wikidata
व्यवसाय सिविल सेवा Edit this on Wikidata

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Speakers extol the value of functional literacy" (अंग्रेज़ी में). द हिन्दू. २९ जनवरी २०१०. मूल से 12 अक्तूबर 2010 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि १५ जून २०१४.
  2. "This day that age" (अंग्रेज़ी में). द हिन्दू. २६ जनवरी २०११. अभिगमन तिथि १५ जून २०१४.
  3. "संग्रहीत प्रति". मूल से 14 जुलाई 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 जून 2014.