कन्ज़ुल ईमान

क़ुरआन के उर्दू अनुवाद की पुस्तक है जिसे इमाम अहमद रज़ा ने लिखा था।

कन्ज़ुल ईमान(इंग्लिश: Kanzul Iman; उर्दू और अरबी: کنزالایمان) क़ुरआन के उर्दू अनुवाद की पुस्तक[1] है जिसे 1911 में इमाम अहमद रज़ा ने लिखा था।

उर्दू आवरण कन्ज़ुल ईमान मअ़ ख़ज़ाइनुल इ़रफ़ान

विवरणसंपादित करें

कन्ज़ुल ईमान अर्थात क़ुरआन के उर्दू अनुवाद से हिंदी, इंग्लिश, डच, तुर्की सहित दूसरी कई भाषाओं में अनुवाद किये गए।
अब ये तफ़्सीर (भाष्य) के साथ कन्ज़ुल ईमान मअ़ ख़ज़ाइनुल इ़रफ़ान (मुकम्मल) के नाम से अधिक प्रचलित है।

डाक्टर मजीदुल्लाह कादरी ने कन्ज़ुल ईमान और प्रसिद्ध क़ुरआन के अनुवादों के विषय पर पी एचडी की है।

मूल पांडुलिपि "इदारा तहकीक़त-ए-इमाम अहमद रज़ा", कराची के पुस्तकालय में संरक्षित है।

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Kanzuliman Islamic Library". मूल से 18 दिसंबर 2019 को पुरालेखित.

इन्हें भी देखेंसंपादित करें