करेन भाषाएँ

भाषाओं का एक समूह

करेन भाषाएँ (Karen languages) बर्मा में लगभग ७० लाख लोगों द्वारा बोली जाने वाली सुरभेदी भाषाओं का एक समूह है। यह औपचारिक रूप से चीनी-तिब्बती भाषा-परिवार की एक उपशाखा हैं लेकिन इनमें उस परिवार से बहुत अंतर हैं। कुछ भाषावैज्ञानिकों के अनुसार यह पड़ोस में बोली जाने वाली मोन और ताई-कादाई भाषाओं का प्रभाव है।[1][2]

करेन
करेन
जातियाँ: करेन
भौगोलिक
विस्तार:
बर्मा; थाईलैण्ड के कुछ क्षेत्र
भाषा श्रेणीकरण: चीनी-तिब्बती
उपश्रेणियाँ:
आइसो ६३९-२६३९-५: kar

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Matisoff, James A. (1991). "Sino-Tibetan Linguistics: Present State and Future Prospects". Annual Review of Anthropology. Annual Reviews Inc. 20: 469–504. डीओआइ:10.1146/annurev.an.20.100191.002345.
  2. "The Sino-Tibetan Language Family". Berkeley.edu. मूल से 13 अगस्त 2006 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2015-05-05.