प्रवासी पक्षी (डेमोइसेल क्रेन) को स्थानीय भाषा में कुरजां/कुर्जा कहते हैं। कुरजां अधिकतर बीकानेर संभाग और जोधपुर संभाग के फलोदी,लोर्डिया गांवों में तालाबों पर पानी पीने के लिए आती हैं। ये पक्षी साइबेरिया से ईरान, अफगानिस्तान आदि देशों से होते हुए भारत में प्रतिवर्ष आते हैं। छापर का तालाब और घाना पक्षी विहार भरतपुर में ये आना अधिक पसन्द करते हैं।

कुरजां
Grus virgo

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें

  • BirdLife Species Factsheet
  • "IUCN Red List". अभिगमन तिथि 2009-03-30.