के वी वेंकटेश्वर शर्म (1919–2005) भारत के विज्ञान-इतिहासकार थे। उन्होने केरल गणित सम्प्रदाय एवं ज्योतिष के इतिहास पर विशेष कार्य किया। केरल गणित सम्रदाय के अनेकों उप्लब्धियों को प्रकाश में लाने का श्रेय के वी शर्म को जाता है। उन्होने पंजाब विश्वविद्यालय से १९७७ में पीएचडी की।

कालक्रमसंपादित करें

  • 919 जन्म
  • 1940 शास्त्रत्तिल् बिरुदं
  • 1942 संस्कृतत में ए ए
  • 1943 मानुस्क्रिप्ट्ट् लैब्रऱियिल्
  • 1951 मद्रास् सर्वकलाशालयिल्
  • 1954 'ग्रहचार निबन्धनं'
  • 1956 'वेण्वारोहं' कण्टॆत्ति
  • 1957 'गोळदीपिक'
  • 1962 होषियार्पुरिलॆ विश्वेश्वरानन्द् इन्स्ट्टिट्ट्यूट्टिल्
  • 1963 'दृग्गणितं' कण्टॆत्ति प्रसिद्धीकरिच्चु
  • 1970 'गोळसारं'
  • 1972 'ऎ हिस्ऱ्ट्टि ओफ् केरळ स्कूळ् ओफ् हिन्दु अस्ट्रोणमि'
  • 1973 'चन्द्रस्फुटाप्ति'
  • 1979 विरमिच्चु
  • 1980 वाचस्पति बिरुदं
  • 2005 मरण

ग्रन्थावलीसंपादित करें

  • K.V. Sarma (1972), A history of the Kerala school of Hindu astronomy (in perspective), Hoshiarpur: Vishveshvaranand Institute, मूल से 15 फ़रवरी 2017 को पुरालेखित, अभिगमन तिथि 26 जनवरी 2017
  • K.V. Sarma (1972), A bibliography of Kerala and Kerala-based astronomy and astrology, Hoshiarpur: Vishveshvaranand Institute
  • K.V. Sarma (1975), Līlāvatī of Bhāskarācārya with Kriyākramakarī of Śaṅkara and Nārāyaṇa. Being an Elaborate Exposition of the Rationale of Hindu Mathematics. Critically edited with Introduction and Appendices, Hoshiarpur: Vishveshvaranand Institute. Review
  • K.V. Sarma (1990), Observational astronomy in India, Dept. of Sanskrit, University of Calicut, मूल से 15 फ़रवरी 2017 को पुरालेखित, अभिगमन तिथि 26 जनवरी 2017
  • Shukla, K.S.; Sarma, K.V. (1976), Āryabhaṭīya of Āryabhaṭa, New Delhi: the Indian National Science Academy, मूल से 15 फ़रवरी 2017 को पुरालेखित, अभिगमन तिथि 26 जनवरी 2017

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें