गिलगित (अंग्रेजी: Gilgit, उर्दू: گلگت‎) भारत के लद्दाख प्रान्त के गिलगित-बलतिस्तान क्षेत्र की राजधानी और सबसे बड़ा नगर है। गिलगित शहर, गिलगित जिले के अन्तर्गत गिलगित की एक तहसील है। इसका प्राचीन नाम सर्गिन था जो बाद में गिलित हो गया। स्थानीय लोगों आज भी इसे गिलित या सर्गिन-गिलित पुकारते हैं। बुरुशस्की भाषा में, इसे गील्त और वाख़ी और खोवार में इसे गिल्त कहा जाता है। प्राचीन संस्कृत साहित्य में इसे घल्लाता नाम से जाना जाता है। स्कर्दू के साथ साथ गिलगित शहर काराकोरम और हिमालय की अन्य पर्वतमालाओं के पर्वतारोही अभियानों के लिए उत्तरी क्षेत्रों के दो प्रमुख केन्द्रों में से एक है।

गिलगित
नगर
Skyline of गिलगित
Ladakh Districts (2019).svg
देश भारत
क्षेत्रगिलगित-बल्तिस्तान
डिवीजनगिलगित डिवीजन
[भारत के जनपदगिलगित ज़िला
शासन
 • महापौरफकीर मुहम्मद
ऊँचाई1500 मी (4,900 फीट)
जनसंख्या (1998)2,16,760
समय मण्डलPST ([[यूटीसी+5]])
डाक कूट15100 [1]
दूरभाष कोड+92 572
वेबसाइटGilgit information
कारगाह में बुद्ध की तस्वीर

भूगोलसंपादित करें

गिलगित, गिलगित-बल्तिस्तान (लद्दाख) के उत्तरी इलाक़ों का सब से बड़ा शहर है। गिलगित नदी इस के पास से गुजरती है। गिलगित के पूर्व में कारगिल, उत्तर में चीन उत्तर पश्चिम में अफ़ग़ानिस्तान, पश्चिम में चित्राल और दक्षिण पूर्व में बाल्तिस्तान स्थित है। दुनिया के तीन प्रमुख पर्वतमालायें हिमालय, काराकोरम और हिंदूकश का संगम इस के क़रीब ही है। यहां की भाषा शीना है लेकिन उर्दू आम समझी जाती है। गिलगित की अधिकतर आबादी शिया मुसलमानों की है।

सन्दर्भसंपादित करें