मुख्य मेनू खोलें

गीतकार गीतों की रचना करते हैं। उनका काम बोल यानी शब्द लिखना होता हैं। उन्हें ऐसे शब्द लिखने होते हैं कि संगीतकार उचित धुन के साथ उन्हें निर्मित करें। भारतीय फिल्मों में संगीतकारों के साथ गीतकारों का बहुत महत्व है। हिन्दी फ़िल्मों में कई प्रकार के गीतकार रहे हैं। कुछ गजल और सूफ़ी परम्परा के बोल लिखते तो दूसरी ओर कुछ सरल भाषा का उपयोग करते हैं।[1]

हिन्दी फ़िल्मों के कुछ प्रसिद्ध गीतकारसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "गीत छापने की मशीन नहीं गीतकार: प्रसून". बीबीसी हिन्दी. 30 सितम्बर 2012. अभिगमन तिथि 1 अक्तूबर 2017.
  2. "गीतकार अब जुमलों से खेलते हैं: समीर". बीबीसी हिन्दी. 18 फरवरी 2016. अभिगमन तिथि 1 अक्तूबर 2017.