जयेन्द्र सरस्वती (जन्म: सुब्रहमण्यम महादेव २८ फरवरी २०१८) दक्षिण भारत के तमिलनाडु राज्य के काँचीपुरम नगर में स्थित कांची कामकोटि पीठ के ६९वें शंकराचार्य थे। उन्हें वेदों के ज्ञाता माना जाता है, और जून २००३ में उन्हें काँची पीठ के शंकराचार्य के पद पर आसीन हुए पचास वर्ष हो गए थे। सन् १९८३ में उन्होंने शंकर विजयेन्द्र सरस्वती को अपना उत्तराधिकारी घोषित किया था।[1] १८ जुलाई १९३५ को उनका देहान्त हो गया।[2]

जयेन्द्र सरस्वती

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "कौन हैं शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती". बीबीसी हिन्दी. १२ नवम्बर २००४. मूल से 30 नवंबर 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि २७ नवम्बर २०१३.
  2. कांची पीठ के शंकराचार्य जयेन्द्र सरस्वती का 83 साल की उम्र में निधन Archived 28 फ़रवरी 2018 at the वेबैक मशीन., दैनिक जागरण, २८ फरवरी २०१८
पूर्वाधिकारी
चंद्रशेखरेन्द्र सरस्वती
कांची कामकोटि पीठ
३ जनवरी १९९४– २८ फरवरी २०१८
उत्तराधिकारी
विजयेन्द्र सरस्वती

उत्तराधिकारी