जय नारायण व्यास पुष्करणा (1899-1963) एक भारतीय राजनेता और राजस्थान के मुख्यमंत्री रह थे। जोधपुर स्थित जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय उनके नाम पर रखा गया है। सामाजिक, राजनीतिक, कर्मण्यवादी जयनारायण व्यास अपने युग की जीवित गाथा थे। युग का स्पन्दन उनकी आत्मा का स्वर बनकर उनकी कविताओं में, उनके गीतों में, उनके उपन्यास में, उनके नाटकों में, उनकी कहानियों में मुखर हुआ। व्यास जी सही अर्थ में सामाजिक पुनर्जागरण एवं राष्ट्रीय भावनाओं के कवि थे। वे समाज सुधार एवं राष्ट्रीय आंदोलन को समर्पित कवि, लेखक, पत्रकार थे।

जयनारायण व्यास
Jai Nathan Vyas statue.jpeg

पद बहाल
26 अप्रेल 1951 – 3 मार्च 1952
पूर्वा धिकारी सी एस वेंकटाचारी
उत्तरा धिकारी Tika Ram Paliwal
पद बहाल
1 नवंबर 1952 – 12 नवंबर 1954
पूर्वा धिकारी टीका राम पालीवाल
उत्तरा धिकारी मोहन लाल सुखाडीया

जन्म 18 फ़रवरी 1899
जोधपुर, जोधपुर रयासत, भारत
मृत्यु 14 मार्च 1963
New Delhi
राजनीतिक दल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
बच्चे 1 पुत्र और 3 बेटीयाँ
धर्म हिन्दू

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें