जानवर और इंसान

1972 की तापी चाणक्य की फ़िल्म

जानवर और इंसान 1972 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। यह तापी चाणक्य द्वारा निर्देशित है। फिल्म में शशि कपूर, राखी, सुजीत कुमार, जगदीप, निरूपा रॉय और मदन पुरी हैं। संगीत कल्याणजी-आनंदजी का है।[1]

जानवर और इंसान
Janwar aur insan.jpg
जानवर और इंसान का पोस्टर
निर्देशक तापी चाणक्य
निर्माता एम॰ एम॰ ए॰ चिनप्पा देवर
अभिनेता शशि कपूर,
राखी,
सुजीत कुमार,
जगदीप,
मदन पुरी,
निरूपा रॉय
संगीतकार कल्याणजी-आनंदजी
प्रदर्शन तिथि(याँ) 1972
देश भारत
भाषा हिन्दी

संक्षेपसंपादित करें

शेखर (शशि कपूर) भारत के जमुना नगर में विधवा माँ, गौरी (निरूपा रॉय‌) के साथ समृद्धी में रहता है और एक संपत्ति का प्रबंधन करता है। इस क्षेत्र में एक बाघ का आतंक रहा है। वह शेखर द्वारा घायल कर दिया गया था और तब से वह और भी निडर और एक आदमखोर बन गया है। शेखर द्वारा उसको फंसाने और मारने की सभी कोशिशें बेकार जाती हैं। फिर शेखर की मुलाकात मीना (राखी) से होती है और दोनों एक-दूसरे के प्यार में पड़ जाते हैं। उनका विवाह मीना के पिता गोकुलदास (मदन पुरी) के कारण नहीं हो सकता, क्योंकि उन्होंने शेखर के पिता को मार डाला था।

लेकिन जब मोहन (सुजीत कुमार) गोकुलदास को मार देता है, तो अतीत को भुला दिया जाता है और दोनों को शादी करने की अनुमति दी जाती है। शादी समारोह में बाघ आ जाता है, जिसके पीछा शेखर बंदूक लेकर करता है। लगभग एक साल के बाद मीना राजू को जन्म देती है लेकिन बाघ का आतंक अब भी जारी है। जब बाघ शेखर की हवेली में घुस जाता है, तब शेखर घर ना लौटने का फैसला करता है जब तक कि वह उस बाघ को मार नहीं देता। वह एक जाल स्थापित करता है लेकिन बाघ उसमें नहीं फँसता। जब शेखर बाघ का जाल में फँसने का इंतजार कर रहा होता है, वह शेखर की हवेली के नौकरों पर हमला कर देता है। अब शेखर किसी मानव को जाल बनाने के लिये मजबूर हो जाता है। जब कोई भी आगे नहीं आता है, तो शेखर इस मामले को अपने हाथ में लेता है। वह इस आदमखोर बाघ के लिए राजू को जाल के रूप में इस्तेमाल करने का फैसला करता है !!

मुख्य कलाकारसंपादित करें

संगीतसंपादित करें

सभी कल्याणजी-आनंदजी द्वारा संगीतबद्ध।

क्र॰शीर्षकगीतकारगायकअवधि
1."आओ मिलके साथी बन के खेलें"इंदीवरसुषमा श्रेष्ठ6:44
2."मुझे ऐसी मिली हसीना"इंदीवरकिशोर कुमार3:23
3."जाने मुझे क्या हुआ रे"गुलशन बावराकिशोर कुमार, लता मंगेशकर4:12
4."मेरे सपनों में एक सूरत है"इंदीवरलता मंगेशकर4:16
5."जीवन एक पथ है"इंदीवरकिशोर कुमार, लता मंगेशकर5:00

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Remember the Gentleman: शशि कपूर के निधन से टूटीं बॉलीवुड ये दिग्गज नायिकाएं". पत्रिका. अभिगमन तिथि 15 मई 2019.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें