मुख्य मेनू खोलें

जी॰ पी॰ सिप्पी

भारतीय फिल्म निर्देशक और निर्माता
(जी पी सिप्पी से अनुप्रेषित)

गोपालदास परमानंद सिप्पी (14 सितंबर 1915 – 25 दिसम्बर 2007) हैदराबाद, सिंध में पैदा हुए भारतीय हिन्दी फ़िल्मों के निर्माता और निर्देशक थे। वह सीता और गीता (1972), शान (1980), सागर (1985), राजू बन गया जेंटलमैन और उनकी अमर कृति (उनके बेटे रमेश सिप्पी के साथ) शोले जैसी कई लोकप्रिय बॉलीवुड ब्लॉकबस्टर बनाने के लिए जाने जाते हैं।

उनको सन् 2000 में मुंबई अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार मिला था।[1] सिप्पी 70, 80 और 90 के दशक में फिल्म एंड टीवी प्रड्यूसर्स गिल्ड ऑफ इंडिया के प्रेजिडेंट भी रहे।[2]

फ़िल्मों की सूचीसंपादित करें

निर्माता के रूप में
निर्देशक के रूप में
  • भाई बहन (1959)
  • लाइट हाउस (1958)
  • आदल-ए-जहाँगीर (1956)
  • श्रीमती फोर टू ज़ीरो (1956)
  • चंद्रकांत (1956)
  • मैरीन ड्राइव (1955)

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "शोले के निर्माता जीपी सिप्पी का निधन". बीबीसी हिन्दी. 26 दिसंबर 2007. अभिगमन तिथि 29 मई 2018.
  2. "'शोले' के प्रड्यूसर जी. पी. सिप्पी का निधन". नवभारत टाइम्स. 26 दिसम्बर 2007. अभिगमन तिथि 29 मई 2018.