कारागार एक ऐसी जगह होती है जहाँ पर चोरी, डकैती, आतंक करने वालों को रखा जाता है। समाज में शांति स्थापित रहे इसके लिए हर देश का एक कानून होता है। कानून का उलंघन करने वालों को कानून का रखवाला यानी प्रहरी अथवा पुलिस पकड़ती है और जब तक उस पर न्यायालय से कोई सुनवाई नही हो जाता तब तक पुलिस उस अपराधी या दोषी को अपने गिरफ्त में रखती है। जेल, कैदखाना आदी सभी एक ही शब्द कारागार के पर्यायवाची हैं।

Allied prisoners of war after the liberation of Changi Prison, Singapore - c. 1945.jpg

भारत की कुछ प्रमुख जेलसंपादित करें

देखेंसंपादित करें