नागपट्टनम के निकट, कराईकल के उत्तर में स्थित तरंगमबाडी 1620 से 1845 के दौरान एक डेनिश कॉलोनी थी। तमिल भाषा में तरंगमबाडी का तात्पर्य होता है लहरों के गीत गाने का स्थान। 1620 में तंजौर के शासक की अनुमति के बाद रघुनाथ नायक ने यहां बीच के पूर्व में एक शानदार किला बनवाया। यहां बीच के निकट ही गवर्नर का महल बना हुआ है। तरंगमबाडी नागापट्टिनम से 35 किलोमीटर की दूर स्थित है जहां डेनिस वास्तुकला के अनेक नमूने देखे जा सकते हैं।