दुर्रानी राजवंश (पश्तो: د درانيانو کورنۍ) (जिसे सदोज़ाई वंश के नाम से भी जाना जाता है) की स्थापना 1747 में अफगानिस्तान के कंधार मे अहमद शाह दुर्रानी ने की थी। उसने विभिन्न पश्तून जनजातियों को एकजुट किया और अपने बलूच सहयोगियों के साथ दुर्रानी साम्राज्य का निर्माण किया, जिसने अपने चरम पर आधुनिक अफगानिस्तान, पाकिस्तान और साथ ही पूर्वोत्तर ईरान, पूर्वी तुर्कमेनिस्तान, और उत्तर-पश्चिमी भारत के कुछ हिस्सों (कश्मीर क्षेत्र) को शामिल किया।19 वीं शताब्दी के पूर्वार्ध के दौरान दुर्रानियों को बराकज़ई राजवंश द्वारा प्रतिस्थापित किया गया था।

दुर्रानी राजवंश
देश पुराना अफगानिस्तान 1747
उपाधियाँ अमीर, राजा
स्थापना 1747
संस्थापक अहमद शाह दुर्रानी
दुर्रानी
कुल जनसंख्या
10 मिलियन (1 करोड)
विशेष निवासक्षेत्र
अफगानिस्तान
भाषाएँ
पश्तो, बलोची |
धर्म
मुख्य रूप से सुन्नी इस्लाम

सन्दर्भसंपादित करें