नटाल कॉलोनी यानि नटाल उपनिवेश, दक्षिणी अफ्रीका के पूर्वी तट पर स्थित एक ब्रिटिश उपनिवेश था। इसे मई १८४५ में एक ब्रिटिश उपनिवेश के रूप में घोषित किया गया था, जब अंग्रेजों ने नतालिया के बोअर गण पर कब्ज़ा कर बफैलो नदी के दक्षिण के पूरे क्षेत्र पर अपना अधिकार जमा लिया था। जिसके उत्तेर की ओर ज़ूलू लोगों का कब्ज़ा था। १९१० में इस उपनिवेश का अन्य तीन ब्रिटिश उपनिवेशोंन के साथ विलय होकर दक्षिण अफ़्रीकी संघ की स्थापना हुई। आज यह दक्षिण अफ़्रीका के प्रांत क्वाज़ूलू-नटाल का हिस्सा है।

नटाल का उपनिवेश
उपनिवेश

 

1843–1910
ध्वज कुलांक
राष्ट्रगान
God Save the Queen
राजधानी Pietermaritzburg
भाषाएँ अफ़्रीकान्स, अंग्रेज़ी, ज़ूलू
धार्मिक समूह एंग्लिकन, डच रिफ़ॉर्म्ड, हिन्दू, प्रॅस्बिटैरियन, रोमन कैथलिक
शासन संसदीय राजशाही
महारानी विक्टोरिया
विशेष आयुक्त
 -  1843 हैनरी कोलेट
ऐतिहासिक युग अफ़्रीका के लिए संघर्ष
 -  स्थापित 4 मई 1843
 -  Annexed Zululand 1897
 -  अंत 1910
 -  Natal Province est. 31 मई 1910
क्षेत्रफल
 -  1904[1] 91,610 किमी ² (35,371 वर्ग मील)
जनसंख्या
 -  1904[1] est. 11,08,754 
     


घनत्व

12.1 /किमी ²  (31.3 /वर्ग मील)
आज इन देशों का हिस्सा है: Flag of दक्षिण अफ़्रीका दक्षिण अफ़्रीका
Warning: Value specified for "continent" does not comply

इस कॉलोनी का ज़ुलु गण के साथ भीषण झड़प और युद्ध होते रहते थे, एक बार तो ऐसा भी हुआ था की ज़ुलु हमले के कारण , पूरे डरबन शहर को खली करवाना पड़ा था। इस कॉलोनी का मुख्य आर्थिक संसाधन थी यहाँ की गन्ना खेती का व्यापर। नटाल में इन गन्ना खेतों पर काम करने के लिए, भारी मात्र में भारतीय प्रवासी भी आया कतरे थे, जिनके अप्रवासन के कारण , डरबन शहर, भारत के बहार स्थित, भारतीय लोगों के सबसे बड़े समाज का निवास-स्थान बना।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Census of the British empire. 1901". Openlibrary.org. 1906. पृ॰ 161. मूल से 15 मार्च 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 26 December 2013.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें

साँचा:Wikisourcecat