प्रम्बनन (परब्रह्मन् का विकृत रूप) जावा में एक विशाल हिन्दु मन्दिर-परिसर है। इसका निर्माण ८५० में हुआ। यह युनेस्को विश्व धरोहर स्थल है और लोकप्रिय पर्यटन स्थल और तीर्थस्थान भी है।

प्रम्बनन मन्दिर
धर्म संबंधी जानकारी
सम्बद्धताहिन्दू धर्म
देवतात्रिमूर्ति
अवस्थिति जानकारी
अवस्थितियोग्यकर्ता, जावा द्वीप
वास्तु विवरण
शैलीइंदोनेशिया शैली
निर्मातारैतंग पिकतेन
स्थापित850

इसमें तीन प्रमुख मन्दिर शिव, विष्णु और ब्रह्मा की हैं। शिव मन्दिर में तीन और मूर्तियां हैं- दुर्गा, गणेश और अगस्त्य की। शिव, ब्रह्मा, विष्णु के वाहन नन्दी, हंस और गरुड के भी मन्दिर हैं।

दुर्गा की मूर्ति को लोरो जोंगरंग (पतली कुमारी) भी कहते हैं। यह मन्दिर दुर्गा के इस नाम लोरो जोंगरंग से भी विख्यात है। बहुत काल तक यह मन्दिर खण्डहर था। पुनरोत्थान के पश्चात यहां के जावा द्वीप के कई परिवार वापस हिन्दु धर्म को लौट आये हैं।

प्रम्बनन मन्दिर परिसर के कुछ मन्दिर
प्रम्बनन मन्दिर परिसर के वास्तुशिल्प की प्रतिकृति
रावण, सीता को हर कर ले जाते हुए; बाँए तरफ जटायु बचाने का प्रयत्न करते हुए। आधार पर निर्मित चित्र

इन्हें भी देखें संपादित करें

बाह्य कड़िया संपादित करें