मुख्य मेनू खोलें

बॉम्बे टू गोवा

1972 की एस॰ रामनाथन की हिन्दी फ़िल्म
(बॉम्बे टू गोआ से अनुप्रेषित)

बॉम्बे टू गोवा 1972 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। इसका निर्देशन एस॰ रामनाथन ने किया। इसमें अमिताभ बच्चन और अरुणा ईरानी ने मुख्य भूमिकाओं में, शत्रुघन सिन्हा ने खलनायक की भूमिका में और महमूद ने अभिनय किया। यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर औसत प्रदर्शन करने में सफल रही थी। इसे 2007 में इसी शीर्षक के साथ हास्य कलाकारों की टुकड़ी के साथ पुनर्निर्मित किया गया था।

बॉम्बे टू गोवा
बॉम्बे टू गोवा.jpg
बॉम्बे टू गोवा का पोस्टर
निर्देशक एस॰ रामनाथन
निर्माता एन॰ सी॰ सिप्पी
लेखक राजेन्द्र कृष्ण (संवाद)
अभिनेता अमिताभ बच्चन,
अरुणा ईरानी,
शत्रुघन सिन्हा,
महमूद,
नासिर हुसैन
संगीतकार राहुल देव बर्मन
प्रदर्शन तिथि(याँ) 3 मार्च, 1972
देश भारत
भाषा हिन्दी

संक्षेपसंपादित करें

आत्माराम (नासिर हुसैन) और उसकी पत्नी (दुलारी) का जीवन उलट जाता है जब वे एक पत्रिका में अपनी बेटी, माला (अरुणा ईरानी) की तस्वीरों को देखते हैं। वे माला की शादी रामलाल (आग़ा) के बेटे के साथ करने की व्यवस्था करते हैं। माला किसी ऐसे से शादी करने का विरोध करती है जिससे वह कभी नहीं मिली है। एक ही समय में वह रोमांचित भी है क्योंकि जिन दो व्यक्तियों पर उसने भरोसा किया था, उनमें से एक वर्मा (शत्रुघन सिन्हा) और दूसरे शर्मा (मनमोहन) ने वास्तव में उस पत्रिका के लिए उसकी तस्वीरें जमा की थीं। अब वह उसे एक बॉलीवुड फिल्म के लिए लेने के लिये तैयार हैं।

माला प्रसिद्धि पाने के अपने तरीके पर उसके माता-पिता के विरोध को समझ नहीं पा रही होती है और बहुत सारे पैसे के साथ घर से भाग जाती है। इस पैसे को वह शर्मा और वर्मा को सौंप देती है। लालच शर्मा और वर्मा को घेर लेता है, जिससे शर्मा की मृत्यु हो जाती है। वर्मा की हत्या का गवाह बनी माला, अब अपने जीवन के लिये भागती है। वह बॉम्बे से एक बस में सवार होती है जो गोवा के लिए जा रही होती है। वर्मा जल्द ही उससे आगे निकल जाता है और उसे मारने के लिए बस में उसका एक हथियारबंद आदमी आ जाता है। फिर आता है माला का एक प्रशंसक रवि कुमार (अमिताभ बच्चन), जो न केवल माला की रक्षा करता है बल्कि पूरे सफर में उसका साथ देता है। माला को भरोसा होने लगता है और बाद में रवि कुमार से प्यार हो जाता है। बस की यात्रा यात्रियों के साथ पूरी तरह से रोमांचक है जो पूरे भारत से, विभिन्न धर्मों और संस्कृतियों से हैं। बस, ड्राइवर राजेश (अनवर अली) और कंडक्टर, खन्ना (महमूद) के "नियंत्रण" में है।

मुख्य कलाकारसंपादित करें

संगीतसंपादित करें

सभी गीत राजेन्द्र कृष्ण द्वारा लिखित; सारा संगीत राहुल देव बर्मन द्वारा रचित।

क्र॰शीर्षकगायकअवधि
1."देखा ना हाय रे"किशोर कुमार4:18
2."दिल तेरा है मैं भी तेरी हूँ"लता मंगेशकर, किशोर कुमार4:55
3."हाय हाय ये ठंडा पानी"आशा भोंसले3:30
4."तुम मेरी जिंदगी में कुछ"लता मंगेशकर, किशोर कुमार3:18
5."ओ महकी महकी ठंडी हवा"किशोर कुमार3:12
6."लिस्सिन टू द पूरिंग रेन"उषा अय्यर4:18

नामांकन और पुरस्कारसंपादित करें

प्राप्तकर्ता और नामांकित व्यक्ति पुरस्कार वितरण समारोह श्रेणी परिणाम
महमूद फिल्मफेयर पुरस्कार फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ हास्य अभिनेता पुरस्कार नामित

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें