मुख्य मेनू खोलें
BharutRelief.jpg

भरहुत भारत के मध्य प्रदेश राज्य में सतना जिले में स्थित एक स्थल है। यह स्थान बौद्ध स्तूप और कलाकृतियों के लिए प्रसिद्ध है। यहाँ का स्तूप पुष्यमित्र शुंग द्वारा सम्भवतः १८५ ईसापूर्व के बाद निर्मित किया गया था। पुष्यमित्र शुंग शुंग वंश के संस्थापक थे। श्री कनिंघम ने सर्वप्रथम 1873 ई. में इस स्थल का पता लगाया था। भरहुत का स्तूप अपने समय के समाज का दर्पण कहाँ जा सकता है । वर्तमान में भरहुत उझड़ चूका है। भरहुत के लाल पहाड़ के ऊपरी चोटी से बलालदेव का 14 वीं शदी का प्रारंभिक देवनागरी में लेख मिला है जिससे यह सिद्ध होता है कि इसका महत्त्व इस समय तक था

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें

नई दुनिया सेवा समिति ग्राम बठिया कला जिला सतना द्वारा - स्थानीय लोंगों का कहना है की इस पहाड़ से हर वर्ष किसी न किसी ब्यक्ति को यहाँ से आने वाले पानी से सोने के सिक्के और सोने की मछली मिलती है मुझे बताने में ख़ुशी होती है की मै और मेरे दोस्त पुराने किले और खंडरों में जाकर खोज करते है और वहां मिलने वाले सामग्रियों को इकट्ठा करते हैं, हमारे मुताबिक यदि भरहुत पहाड़ की अच्छी तरह खोज की जाये तो यहाँ से पुरानी मूर्तियाँ और खजाना पाया जा सकता है, हमने कम से कम २० वार जाकर पता लगाया मै और मेरे समिति के मेम्बर भरहुत पहाड़ की खोज की है, तब जाकर ये जानकारी दाल रहा हूँ,



लेखक

श्री तरुण कुमार सोंधिया

अध्यक्ष

नई दुनिया सेवा समिति ग्राम बठिया कला जिला सतना