भारत में मापन का इतिहास बहुत पुराना है। वर्तमान में भारत में मापन की अन्तरराष्ट्रीय प्रणाली (SI) प्रचलित है। इसके पहले अंग्रेजों ने ब्रिटिश प्रणाली लागू की थी। उसके पूर्व अकबर के समय में एक अन्य प्रणाली लागू की गयी थी। किन्तु अकबर के पहले एक अन्य प्रणाली ही थी।[1][2]

तौल की भारतीय मापेंसंपादित करें

 
प्राचीन भारत में रत्ती द्रव्यमान (भार) मापने के काम आती थी, तथा द्रव्यमान की ईकाइ भी थी

8 खसखस = 1 चावल

8 चावल या 4 धान = 1 रत्ती

6 रत्ती = 1 आन

8 रत्ती = 1 माशा

5 सीकीस = 1 कंचा

10 माशा = 1 भरी

12 माशा या 16 आना = 1 तोला

5 तोला = 1 छटाँक

4 छटाँक = 1 पाव

4 पाव (16 छटाँक) = 1 सेर

5 सेर = 1 पंसेरी

8 पंसेरी या 40 सेर = 1 मन = 82 2/7 पाउंड (ऐर्डुपॉयज़) = 100 पाउंड ट्राँय

लम्बाई की भारतीय मापेंसंपादित करें

4 अंगुल = 1 गिरह

16 गिरह = 1 गज

3 गिरह = 1 गट्ठा

20 गट्ठा = 2 जरीब

29 1/8 जरीब = 1 मील

3 हाथ = 1 करम

10 करम = 1 जरीब

समय की भारतीय मापेंसंपादित करें

60 अनुपल = 1 विपल

60 विपल = 1 पल

60 पल = 1 दंड या 1 घड़ी

60 दंड = 1 दिन

7 दिन = 1 सप्ताह

30 दिन = 1 महीना

12 महीना = 1 वर्ष

100 वर्ष = 1 शताब्दी

धरातल की मापेंसंपादित करें

(राजस्थान में प्रचलित)

1 वर्ग हाथ = 1 गंडा

20 गंडा = 1 चटक

16 चटक = 1 कट्ठा या 20 धूर

20 कट्ठा = 1 बीघा

1 बीघा = 3065 वर्ग गज

1 एकड़ = 3 बीघा 8 चटक

4840 वर्ग गज = एक एकड़

(महाराष्ट्र में प्रचलित)

39 1/4 वर्ग हाथ = 1 काठी

20 काठी = 1 पांद

20 पांद = 1 बीघा

6 बीघा = 1 रुकेह

20 रुकेह = 1 चाहुर

१ गुंठा = [३३ फुट x ३३ फुट ] = १०८९ चौ फुट

१ एकर = ४० गुंठे

(मद्रास में प्रचलित)

400 वर्ग फुट = 1 मनाई

24 मनाई = 1 काउनी

484 काउनी = 1 वर्ग मील

121 काउनी = 160 एकड़

(पंजाब में प्रचलित)

1 वर्ग करम = 1 सीरसई

9 सीरसई = 1 मार्ला

20 मार्ला = 1 कनाल

5 कनाल = 1 बीघा

8 कनाल = 1 एकड़ या 1 घुमा

(उत्तर प्रदेश में प्रचलित)

20 कचवांसी = 1 बिस्वांसी

20 बिस्वांसी = 1 बिस्वा

20 बिस्वा = 1 बीघा

1 बीघा = 55 x 55 वर्ग गज

1 एकड़ = 1.6 बीघा

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Sharma, Om Prakash (1965). Santa sāhitya kī laukika-pr̥sṭhabhūmi. Hindustrani Akademi. मूल से 24 जुलाई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 24 जुलाई 2018.
  2. Sahay, Shiva Swarup (1998). Pracheen Bharat Ka Samajik Aur Arthik Itihas Hindu Samajik Sansthaon Sahit. Motilal Banarsidass Publishe. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9788120823648. मूल से 24 जुलाई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 24 जुलाई 2018.