मुख्य मेनू खोलें

भारत के प्रत्येक मुख्य नगर में सरकार तथा दानी सज्जनों द्वारा स्थापित अनेक अस्पताल हैं। नीचे केवल कुछ प्रमुख तथा विशिष्ट रोगों से पीड़ितों के लिए अस्पतालों के नाम दिए जाते हैं:--

अमृतसर (पंजाब) - पंजाव मेंटल हास्पिटल (केवल मानसिक रोगों की चिकित्सा के लिए); पंजाब डेंटल हास्पिटल (केवल दंतरोग का चिकित्सा स्थान)।

इंदौर (मध्यप्रदेश) : इन्फ़ेक्शस डिज़ीज़ेज़ हास्पिटल (संक्रामक रोगों की चिकित्सा के लिए); कल्याणमल नर्सिग होम (रोगियों की देखभाल और उपचार के लिए विशिष्ट संस्था); लेपर असाइलम (कुष्ठरोगियों के लिए); मेंटल हास्पिटल (मानसिक रोगों का चिकित्सालय); टी.बी. क्लिनिक (क्षयरोग की चिकित्सा के लिए); टी.बी. सैनाटोरियम (क्षयरोग के रोगियों की देखभाल तथा चिकित्सा की संस्था)।

इलाहाबाद (उत्तर प्रदेश) : कमला नेह डिग्री हास्पिटल (मातृत्व संबंधी अस्पताल)।

उज्जैन (मध्य प्रदेश) : लेपर असाइलम (कुष्ठरोग से पीड़ितों के लिए); टी.बी.क्लिनिक (क्षयरोग की चिकित्सा का अस्पताल)।

कटक (उड़ीसा) : ए.सी.बी. मेडिकल कालेज हास्पिटल (कठिन रोगों की परीक्षा तथा चिकित्सा संस्थान)।

कोलकाता (पश्चिमी बंगाल) : अल्बर्ट विक्टर लेपर हास्पिटल, 18, गोबरा रोड, एँताली (कुष्ठरोग का विशिष्ट चिकित्सालय); आर.जी.कार मेडिकल कालेज हास्पिटल, 1 बेलगछिया रोड (कठिन रोगों के अध्ययन और चिकित्सा के लिए); कलकत्ता मेडिकल स्कूल और हास्पिटल, 301-3, अपर सरकुलर रोड (कठिन रोगों की परीक्षा और चिकित्सा की संस्था); कारमाइकेल हास्पिटल फ़ॉर ट्रापिकल डिज़ीज़ेज़, सेंट्रल ऐवेन्यु, (उष्णप्रधान देशों के विशेष रोगविषयक अनुसंधान तथा चिकित्सा संस्थान); नीलरतन सरकार मेडिकल कालेज ऐंड हास्पिटल, सियालदह (रोगपरीक्षा तथा चिकित्सा का उत्तम प्रबंध); मेडिकल कालेज हास्पिटल, 88 कालेज स्ट्रीट (यहाँ सब रोगों के साथ साथ दंतरोगों के अध्ययन तथा चिकित्सा का विशेष प्रबंध है); आलॅ इंडिया इंस्टिटयूट ऑव हाइजीन ऐंड पब्लिक हेल्थ, 110, चितरंजन ऐवेन्यु, कलकत्ता (निरोधक तथा सामजिक ओषधियों पर शोध तथा चिकित्सा)।

कालिकट (केरल) : गवर्नमेंट विमेन ऐंड चिल्ड्रेंस हास्पिटल (स्त्रियों और बालकों की चिकित्सा के लिए)।

चंडीगढ़ (पंजाब) : पाँचस्ट ग्रैजुएट रिसर्च सेंटर तथा अस्पताल, सेक्टर 12, चंडीगढ़ (इसमें जीर्ण रोगों, असाध्य रोगों तथा आँख की चिकित्सा का विशिष्ट प्रबंध है)।

त्रिचूर (केरल) : एडवर्ड मेमोरियल मैटर्निटी हास्पिटल (मातृत्व संबंधी विशेष अस्पताल)।

त्रिवेंद्रम (केरल) : विमेन ऐंड चिल्ड्रेंस हास्पिटल (स्त्रियों और बालकों के रोगों के लिए)।

दिल्ली : इन्फेक्शस डिज़ीज़ेज़ हास्पिटल (संक्रामक रोगों का अस्पताल); इरविन हास्पिटल, दिल्ली गेट (सब रोगों के लिए प्रमुख अस्पताल); लेडी हार्डिज मेडिकल कालेज ऐंड हास्पिटल, लेडी हार्डिज रोड (रोगों के अध्ययन तथा चिकित्सा का प्रमुख अस्पताल); विलिंगडन हास्पिटल, इर्विन रोड (रोगियों के रहने के लिए विशेष अच्छा प्रबंध है); मिसेज जी.एल. मैटर्निटी हास्पिटल (मातृत्व संबंधी विशिष्ट अस्पताल); आल इंडिया इंस्टिटयूट ऑव मेडिकल साइंसेज़, अंसारीनगर, नई दिल्ली 16; वल्लभ भाई पटेल चेस्ट इंस्टिटयूट, दिल्ली (क्षयरोग, फुफ्फुसरोग तथा इनसे संबंधित आयुर्विज्ञान में शोध तथा चिकित्सा)।

नूरनद (केरल) : लेप्रसी सैनटोरियम (कुष्ठरोग का विशिष्ट अस्पताल)।

पटना (बिहार) : पटना मेडिकल कालेज हास्पिटल, बांकीपुर (कर्कटरोग की विशिष्ट चिकित्सा यहाँ उपलब्ध है)।

बंगलुरू (कर्नाटक) : मेंटल अस्पताल (मानसिक रोगों का चिकित्सालय); मिंटो ऑफ़थैल्मिक हास्पिटल (चक्षुरोगों का विशिष्ट अस्पताल); लेपर असाइलम (कुष्ठरोग की चिकित्सासंस्था); एपिडेमिक डिज़ीज़ेज़ हास्पिटल (माहमारी रोगों की चिकित्सा का अस्पताल); गवर्नमेंट टी.बी. सैनाटोरियम (क्षयरोग चिकित्सालय); आइसोलेशन हास्पिटल (संक्रामक रोगों का चिकित्सासंस्थान); मैटर्निटी हास्पिटल (मातृत्व संबंधी कष्टों के निवारणार्थ)।

मुंबई : इन्फ़ेक्शस् डिज़ीज़ेज़ हास्पिटल, आर्थर रोड, जैकब सरकिल (संक्रामक रोगों की विशिष्ट चिकित्सा); एकवर्थ लेपर होम, माटुंगा (कुष्ठरोग चिकित्सालय); जमशेदजी जीजीभाई हास्पिटल, बाबुला टैंक रोड, बाइकला (इस अस्पताल में 478 रोगियों के निवास का प्रबंध है। जननेंद्रिय संबंधी रोगों का विभाग दिन और रात खुला रहता है); ताता मेमोरियल हास्पिटल, परेल (कर्कटरोग की चिकित्सा के लिए भारत का प्रमुख अस्पताल); बाई मोतीबाई ऐंड सर डी.एम. पेटिट हास्पिटल, मज़गाँव रोड, बाइकला (स्त्रियों के रोगों के लिए); बैरामजी जीजीभाई हास्पिटल फॉर चिल्ड्रेन, मज़गांव रोड, बाइकला (12 वर्ष से कम आयु वाले बच्चे सब प्रकार के रोगों की चिकित्सा के लिए भरती किए जाते हैं); म्युनिसिपल ग्रुप ऑव टी.बी. हास्पिटल्स, जेरबाई वाडिया रोड, सिवड़ी (क्षयरोगियों की विशिष्ट चिकित्सा के लिए; इस अस्पताल में 300 रोगियों के निवास का प्रबंध है; यह सब प्रकार के आधुनिक यंत्रों से सुसज्जित है)।

मटनचेरी (केरल) : विमेन ऐंड चिल्ड्रेंस हास्पिटल (स्त्रियों और बालकों के रोगों का अस्पताल)।

चेन्नै : गवर्नमेंट ऑफ़्थैल्मिक हास्पिटल, 20 मारशल रोड, एग्मोर (चक्षुरोगों की विशेष चिकित्सा के लिए); गवर्नमेंट जेनरल हास्पिटल (सब प्रकार के रोगों का प्रमुख चिकित्सालय); गवर्नमेंट मेंटल हास्पिटल, लोकाक गार्डन, किलयाक (मानसिक रोगों का चिकित्सालय); गवर्नमेंट स्टेनली हास्पिटल, ओल्ड जेल स्ट्रीट (मेडिकल कालेज से संबंधित, सर्वरोग चिकित्साका प्रमुख संस्थान); गर्वनमेंट हास्पिटल फ़ॉर विमेन ऐंड चिल्ड्रेन, एग्मोर (स्त्रियों और बालकों के लिए विशेष चिकित्सालय); गवर्नमेंट ट्युबरक्युलोसिस हास्पिटल, रोयापेट तथा गवर्नमेंट ट्युबरक्युलोसिस इंस्टिट्यूट, स्पर टैंक रोड, एग्मोर (क्षयरोग चिकित्सा के विशिष्ट अस्पताल); कस्तूरबा गांधी हास्पिटल फ़ॉर विमेन ऐंड चिल्ड्रेन, ट्रिप्लिकेन (स्त्रियों और बालकों के लिए विशिष्ट चिकित्सालय)।

राँची (बिहार) : इंडियन मेंटल हास्पिटल (मानसिक रोगों का प्रसिद्ध अस्पताल)।

लखनऊ (उत्तर प्रदेश) : गांधी मेमोरियल हास्पिटल (सब कठिन रोगों की परीक्षा तथा चिकित्सा के लिए मेडिकल कालेज से संबद्ध प्रमुख अस्पताल)।

वाराणसी (उत्तर प्रदेश) : सर सुंदरलाल अस्पताल वाराणसी (यहाँ कुछ दुस्साध्य रोगों का इलाज संभव हो गया है)।

वेलोर (उत्तरी आर्काडु, तमिलनाड़) : क्रिश्चियन मेडिकल कालेज ऐंड हास्पिटल, वेलोर (शल्यचिकित्सा का प्रमुख अस्पताल)।

शिलांग (आसाम) : रीड प्राविंशियल चेस्ट हास्पिटल (वक्ष संबंधी रोगों का विशेष अस्पताल)।

सतारा (महाराष्ट्र) : मिशन हास्पिटल, मीरज (क्षयरोगों की विशिष्ट चिकित्सा); लेप्रसी सैनाटोरियम, मीरज (कुष्ठरोग का प्रमुख चिकित्सालय)।

सीतापुर (उत्तर प्रदेश) : नेत्र-चिकित्सा-केंद्र, सीतापुर (आँख के सभी रोगों की चिकित्सा आधुनकि पद्धति तथा उपकरणों से की जाती है)।

हैदाराबाद (आँध्र) : ओस्मानिया जनरल हास्पिटल (सब रोगों की विशिष्ट चिकित्सा के लिए); लिंगमपल्लि आइसोलेशन हास्पिटल (संक्रामक रोगों से पीड़ितों)।